थाईलैंड ओपन खेलने गईं साइना कोरोना संक्रमित, एचएस प्रणय भी पॉजिटिव

भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। थाईलैंड ओपन खेलने गईं साइना सोमवार को तीसरे राउंड के टेस्ट के बाद पॉजिटिव पाई गईं। बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया (BAI) ने इसकी पुष्टि की। उनके अलावा एचएस प्रणय भी कोरोना संक्रमित पाए गए।

साइना के पति और शटलर पारुपल्ली कश्यप को भी आइसोलेट होने के लिए कहा गया है। वे भी टूर्नामेंट के लिए बैंकॉक में ही हैं। BAI के मुताबिक तीनों खिलाड़ियों के नाम को थाईलैंड ओपन से वापस ले लिया गया है। वे अगले 10 दिनों तक अस्पताल में आइसोलेट रहेंगे। इससे भारत की ओलिंपिक की तैयारियों को भी झटका लगा है।

BWF से संपर्क में है BAI
BAI ने कहा कि वे वर्ल्ड बैडमिंटन फेडरेशन, टीम मैनेजमेंट, खिलाड़ियों और ऑर्गेनाइजर्स से लगातार संपर्क में हैं। टेस्ट रिपोर्ट के बाद इन पर आगे के टूर्नामेंट में खेलने पर फैसला लिया जाएगा। वहीं, पी कश्यप का भी टेस्ट कराया जा रहा है। खिलाड़ियों से संबंधित ऑफिशियल स्टेटमेंट जल्द ही जारी किया जाएगा।

साइना और कश्यप के प्रतिद्वंदी को मिला वॉकओवर
साइना को मंगलवार को टूर्नामेंट के पहले दिन अपना पहला मैच खेलना था। हालांकि, साइना के पॉजिटिव आने के बाद उनकी प्रतिद्वंदी खिलाड़ी मलेशिया की किसोना सेल्वादुरे को वॉकओवर दिया गया। किसोना सेकंड राउंड में पहुंच गईं। इसके साथ ही पी कश्यप को भी मंगलवार को अपना पहला मैच कनाडा के जेसन एंथोनी हो-शुए के खिलाफ खेलना था। जेसन को भी वॉकओवर मिला और वे भी अगले राउंड में पहुंच गए हैं।

साइना के BWF के वर्ल्ड टूर फाइनल्स में खेलना नामुमकिन
साइना और प्रणय के ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई करने का रास्ता और भी मुश्किल हो गया है। थाईलैंड ओपन टूर्नामेंट 12 से 17 जनवरी के बीच बैंकॉक में खेला जा रहा है। इसके बाद टोयोटा थाईलैंड ओपन 19 जनवरी से शुरू होगा और 24 जनवरी तक चलेगा। 27 से 31 जनवरी के बीच खेले जाने वाले वर्ल्ड बैडमिंटन फेडरेशन (BWF) के वर्ल्ड टूर फाइनल्स खेला जाएगा। 10 दिन के लिए आइसोलेट हुए साइना और प्रणय का वर्ल्ड टूर फाइनल्स में खेलना लगभग नामुमकिन है।

साइना ने उठाया था सवाल
30 साल की साइना ने हाल ही में फीजियो और ट्रेनर को थाईलैंड ओपन में एंट्री की परमिशन नहीं देने पर सवाल उठाया था। साइना ने बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन से इसमें ढिलाई देने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि इससे एथलीट्स के परफॉर्मेंस और फिटनेस पर असर पड़ेगा।

Back to top button
E-Paper