महाराष्‍ट्र में कोरोना की रफ्तार बेकाबू, दिल्‍ली, गुजरात, कर्नाटक में भी बढ़ रहे केस

कोविड-19 की स्थिति को लेकर महाराष्‍ट्र सबके निशाने पर है। हालांकि कई और राज्‍य भी ऐसे हैं जहां हाल के दिनों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं। पिछले हफ्ते के आंकड़े देखें तो 36 राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों में से 16 में मामलों की संख्‍या बढ़ी है। हालांकि इनमें से आधे ऐसे हैं जहां यह बढ़त उतनी ज्‍यादा नहीं है। मगर कम से कम सात राज्‍य/केंद्रशासित ऐसे हैं जिनके आंकड़ों पर पैनी नजर रखने की जरूरत है। भारत में सोमवार को 10,584 नए मामले दर्ज किए गए हैं जबकि 78 मरीजों की मौत हुई है। सोमवार को नए केसेज का यह आंकड़ा पिछले छह हफ्तों में सबसे ज्‍यादा है।

आइए जानते हैं महाराष्‍ट्र के अलावा देश के और कौन-कौन से हिस्‍सों में कोरोना रिटर्न हो रहा है।

इन राज्‍यों के आंकड़े देने लगे हैं टेंशन

पिछले हफ्ते में महाराष्‍ट्र के कोरोना केसेज में 81% का इजाफा देखने को मिला है। इसके अलावा मध्‍य प्रदेश और पंजाब ऐसे राज्‍य हैं जहां मामले 30% से ज्‍यादा बढ़े हैं। जम्‍मू और कश्‍मीर, छत्‍तीसगढ़ और हरियाणा की स्थिति भी चिंताजनक है। चंडीगढ़ में भी केसेज 43% बढ़ गए हैं।

दिल्‍ली, गुजरात, कर्नाटक में भी बढ़ रहे केस

देश की राजधानी में नए मामलों की संख्‍या में 4.7% का इजाफा देखने को मिला है। पिछले हफ्ते वहां पर 954 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा कर्नाटक (4.6% की बढ़त) और गुजरात (4% बढ़त) में भी केसेज बढ़े हैं। कर्नाटक में 15 से 21 फरवरी के बीच 2,879 नए केस सामने आए जबकि गुजरात में इसी दौरान 1,860 केस। पिछले हफ्ते सबसे ज्‍यादा केसेज वाले राज्‍यों में महाराष्‍ट्र, केरल और तमिलनाडु के बाद कर्नाटक का ही नंबर रहा।

डेली केसेज का एवरेज अब लगा है बढ़ने

देश में डेली केसेज का सात-दिनी रोलिंग एवरेज अब लगातार बढ़ रहा है। सोमवार को लगातार आठवां दिन था जब इसमें बढ़त देखी गई। फिलहाल यह 12,981 है जो कि 10 फरवरी को 11,428 था। राहत की बात ये है कि मौतों का आंकड़ा नहीं बढ़ रहा है। पिछले साल 3 मई के बाद सबसे कम मौतें सोमवार को दर्ज हुईं।

महाराष्‍ट्र में कोरोना की रफ्तार बेकाबू

महाराष्‍ट्र के कई हिस्‍सों में कोरोना वायरस पर लगाम नहीं लग पा रही है। मुंबई, पुणे के साथ-साथ अब विदर्भ इलाके में भी हालात खराब होने लगे हैं। यवतमाल, अकोला, अमरावती और वर्धा जिलों में केसेज बढ़ते ही चले जा रहे हैं। विदर्भ में 11 जिलों में से छह में सबसे ज्यादा पॉजिटिव रेट है, जो राज्य के वर्तमान औसत से लगभग तीन गुना अधिक है।

बढ़ रहा कोरोना, मुख्‍यमंत्रियों ने बुलाई मीटिंग

महाराष्‍ट्र में कोरोना का प्रकोप सबसे ज्‍यादा है। हालात पर काबू कैसे पाया जाए, इसपर चर्चा के लिए सीएम उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को बीएमसी कमिश्‍नर और अधिकारियों के साथ एक रिव्‍यू मीटिंग बुलाई है। दूसरी तरफ, पंजाब सीएम कैप्‍टन अमरिंदर सिंह भी हेल्‍थ एक्‍सपर्ट्स और सीनियर ऑफिसर्स के साथ कोविड के हालात का रिव्‍यू करेंगे।

उत्‍तराखंड ने 5 राज्‍यों के लिए कड़े कर दिए नियम

उत्‍तराखंड ने देश के 5 राज्‍यों से आने वालों के लिए टेस्टिंग अनिवार्य कर दी है। देहरादून डीएम के मुताबिक, महाराष्‍ट्र, गुजरात, केरल, मध्‍य प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ से आने वालों को राज्‍य की सीमाओं, रेलवे स्‍टेशंस और देहरादून एयरपोर्ट पर टेस्टिंग से गुजरना होगा।

बेंगलुरु के अपार्टमेंट्स में फूट रहा ‘कोरोना बम’

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के एक और अपार्टमेंट कॉम्‍प्‍लेक्‍स में अलर्ट जारी किया है। वहां पर 15 फरवरी से 22 फरवरी के बीच 10 कोविड केस मिले हैं। अपार्टमेंट के छह संक्रामक ब्‍लॉक्‍स को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। बेंगलुरु में पिछले दिनों एक और अपार्टमेंट को कंटेनमेंट जोन घोशित किया गया था जहां पर 113 लोग संक्रमित पाए गए थे। अधिकारियों के मुताबिक, रेजिडेंशियल सोसायटी में मैरेज एनविर्सरी की दो पार्टियों के बाद ये केसेज दर्ज किए गए।

Back to top button
E-Paper