यूपी: बोरवेल में गिरे चार साल का बच्चे की मौत, 20 घंटे चला रेस्क्यू फिर भी नहीं बची जान

महोबा जिले के 4 साल का घनेंद्र जिंदगी की जंग हार गया। करीब 20 घंटे बाद गुरुवार को 30 फीट गहरे बोरवेल से मासूम को SDRF की टीम ने बाहर निकाला। उसके शरीर में कोई हरकत नहीं हो रही थी। तत्काल उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। बता दें कि कुलपहाड़ कोतवाली क्षेत्र के बुधौरा गांव का घनेंद्र बुधवार दोपहर अपनी मां के साथ खेत गया था, वहीं वह खेलते समय करीब 12 बजे खुले बोरवेल में गिर गया था।

बोरवेल में फंसे घनेंद्र को जीवित रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने सिलेंडर से ऑक्सीजन दी थी।

यह है पूरा मामला

बुधौरा गांव निवासी भागीरथ कुशवाहा बुधवार को गेहूं के फसल की सिंचाई कर रहे थे। खेत में उनकी पत्नी पत्नी व चार का बच्चा घनेंद्र उर्फ बाबू भी था। मां खेत में काम करने लगी। इसी दौरान करीब 12 बजे घनेंद्र खेलते हुए बोरवेल के पास पहुंच गया और उसके अंदर गिर गया। बच्चे के रोने की आवाज सुनकर उसकी मां ने शोर मचाया। इसके बाद गांव के लोगों ने पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को घटना की सूचना दी। करीब 12 बजे कुलपहाड़ थाने की पुलिस और राजस्व अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू के लिए दो JCB मशीनें मंगवायी। बोरवेल के पास खुदाई की गयी। बोरवेल के ऊपर सिलेंडर रख कर अंदर ऑक्सीजन की सप्लाई की गई। लेकिन सफलता नहीं मिलने पर लखनऊ से 18 सदस्यीय SDRF की टीम महोबा बुलाई गई। पूरी रात रेस्क्यू ऑपरेशन चला।

Back to top button
E-Paper