यूपी : 50 से अधिक उम्र के 70 प्रतिशत लोगों की कोरोना संक्रमण से हुई मौत


-60 प्रतिशत से अधिक आबादी तक पहुंची सर्विलांस टीम

लखनऊ। प्रदेश में कोरोना के खिलाफ प्रभावी लड़ाई लड़ते हुए इसे नियंत्रित करने में भले ही योगी सरकार अब तक सफल साबित हुई है। लेकिन, अधिक उम्र के लोगों में बढ़ता संक्रमण और मौत स्वास्थ्य महकमे के लिए चुनौती बना हुआ है।

राज्य में कोरोना संक्रमण के बाद अब तक हुई कुल मौतों में 50 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगों का 70.39 प्रतिशत है। ऐसे में सरकार ने फोकस सर्विलांस और टेस्टिंग और तेज कर दी है, जिससे संक्रमण की चेन को वक्त रहते तोड़ा जा सके। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बुधवार को बताया कि अब तक कोरोना संक्रमण से जो मृत्यु हुयी है, उसमें 0-10 आयु वर्ग के 0.82 प्रतिशत, 11-20 आयु वर्ग के 1.36 प्रतिशत, 21-30 आयु वर्ग के 4.41 प्रतिशत, 31-40 आयु वर्ग के 8.33 प्रतिशत, 41-50 आयु वर्ग के 14.70 प्रतिशत, 51-60 आयु वर्ग के 25.01 प्रतिशत और 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 45.38 प्रतिशत है। इस तरह 51 से 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 70.39 प्रतिशत मरीजों की संक्रमण के बाद मौत हो चुकी है। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही राज्य में सर्विलांस का कार्य बेहद तेजी से जारी है। अब तक राज्य की 60 प्रतिशत से अधिक आबादी तक स्वास्थ्य विभाग की टीमें पहुंच चुकी हैं। सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,67,475 क्षेत्रों में 4,73,335 टीम दिवस के माध्यम से 2,97,97,148 घरों के 14,55,51,776 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।

ये कवायद लगातार जारी है।चिह्नित स्थानों की फोकस टेस्टिंग 04 से 10 दिसम्बर तक
उन्होंने बताया कि इसके साथ ही प्रदेश के सभी जनपदों में संक्रमित क्षेत्रों की मैपिंग की कवायद की जा रही है। इसके माध्यम से संक्रमित इलाकों, मोहल्लों को मैपिंग के माध्यम से चिह्नित किया जा रहा है। इन चिह्नित स्थानों की फोकस टेस्टिंग 04 से 10 दिसम्बर तक करायी जाएगी। इन नमूनों की अधिकांश आरटीपीसीआर जांच कराई जाएगी, ताकि संक्रमण को जितनी जल्दी हो सके खोजा जा सके और संक्रमित व्यक्ति को आइसोलेट करके संक्रमण की श्रंखला को तोड़ा जा सके।

Back to top button
E-Paper