सरकारी पैनल का अनुमान-फरवरी 2021 तक भारत की कम से कम आधी आबादी हो सकती है कोरोना से संक्रमित

नई दिल्ली
भारत में अगले साल फरवरी तक कम से कम आधी आबादी कोरोना से संक्रमित हो सकती है। यानी तब तक कम से कम 65 करोड़ भारतीय कोरोना से संक्रमित हो चुके होंगे। यह हम नहीं कह रहे और न ही कोई अंतरराष्ट्रीय संस्था। यह अनुमान है भारत सरकार की तरफ से बनाए गए विशेषज्ञों के पैनल का। पैनल के एक अहम सदस्य ने सोमवार को जानकारी दी। हालांकि, पैनल का यह भी कहना है कि इतनी बड़ी आबादी के संक्रमित होने से महामारी की रफ्तार थमने में मदद मिलेगी।

मध्य सितंबर के बाद से संक्रमण के नए मामलों में कमी
भारत में अब तक कोरोना संक्रमण के 75.5 लाख मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इस मामले में भारत सिर्फ अमेरिका से पीछे है। हालांकि, देश में मध्य सितंबर के बाद से कोरोना संक्रमण के मामलों में गिरावट देखी जा रही है। पिछले 1 महीनों से रोजाना औसतन 61,390 केस सामने आ रहे हैं। 

‘फिलहाल देश की करीब 30 प्रतिशत आबादी कोरोना से संक्रमित’
सरकारी पैनल के सदस्य और आईआईटी कानुपर के प्रफेसर मणिंद्र अग्रवाल ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को बताया, ‘हमारे गणितीय मॉडल का आकलन है कि फिलहाल देश की करीब 30 प्रतिशत आबादी संक्रमित हो चुकी है और फरवरी तक यह आंकड़ा 50 प्रतिशत तक पहुंच जाएगा।’

सीरो सर्वे के मुताबिक, सितंबर तक 14 प्रतिशत आबादी संक्रमित

कमिटी का आकलन है कि सरकार की तरफ से कराए गए सीरो सर्वे में जिस हद तक संक्रमण का अनुमान लगाया गया है, असल में संक्रमण का स्तर उससे कहीं बहुत ज्यादा हो सकता है। सीरो सर्वे के मुताबिक सितंबर तक भारत की करीब 14 प्रतिशत आबादी कोरोना से संक्रमित हो चुकी थी। मगर कमिटी के मुताबिक यह आंकड़ा करीब 30 प्रतिशत है।

Loading...

‘सीरो सर्वे में सैंपलिंग को लेकर कुछ दिक्कत संभव’
सीरो सर्वे को लेकर अग्रवाल ने कहा कि इसमें सैंपलिंग को लेकर कुछ दिक्कतें हो सकती हैं। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी आबादी में सर्वे करने के लिए एकदम आदर्श सैंपल चुनना बहुत कठिन है और हो सकता है कि सीरो सर्वे में एकदम सही सैंपल न लिए जा सके हों।

रविवार को सावर्जनिक हुई थी पैनल की रिपोर्ट
सीरो सर्वे से अलग वायरलॉजिस्ट्स, साइंटिस्ट्स और दूसरे एक्सपर्ट्स की इस कमिटी ने मैथमेटिकल मॉडल पर भरोसा जताया है। कमिटी की रिपोर्ट को रविवार को सार्वजनिक किया गया था।

मैथमेटिकल मॉडल के आधार पर भविष्यवाणी
अग्रवाल ने कहा, ‘हमने एक ऐसा नया मॉडल विकसित किया है जो अनरिपोर्टेड केस को भी सही-सही गिनता है ताकि हम संक्रमित लोगों को दो श्रेणियों में बांट सकें- रिपोर्टेड केस और ऐसे केस जिन्हें रिपोर्ट नहीं किया गया।’

‘त्योहारी सीजन में सावधानियां नहीं बरती गईं तो और फैलेगी महामारी’
कमिटी ने चेताया है कि अगर सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने जैसे ऐहतियातों का पालन नहीं किया गया तो संक्रमण का स्तर और भी ऊपर पहुंच सकता है। एक्सपर्ट्स ने चेतावनी दी है कि दुर्गा पूजा, दिवाली, छठ जैसे त्योहारों वाले सीजन में कोरोना संक्रमण और बढ़ सकता है।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker