लड़की के खाते में अचानक आ गए 10 करोड़ रुपये, बैलेंस चेक करते हैरान रह गई

बलिया. क्या हो जब एक रोज आप सोकर उठें और आपको पता चले कि आप करोड़पति हो गए हैं। आप अपना बैंक अकाउट चेक करें और पता चले कि आपके खाते में करोड़ों रुपये आ गए हैं। बलिया जिले के छोटे से गांव की रहने वाली एक किशोरी के साथ ऐसा ही हुआ। उसके खाते में अचानक ही 10 करोड़ रुपये (9 करोड़ 99 लाख रुपये) आ गए। इतने रुपये खाते में आने के बाद वह हैरान रह गई। उसने तत्काल पुलिस और बैंक को इसके बारे में बताया, जिसके बाद उसके खाते को सीज कर लेन-देन पर रोक लगा दी गई। पुलिस मामले की पड़ताल में जुट गयी है। ऐसा माना जा रहा है कि यह साइबर अपराधियों की करतूत हो सकती है।

बलिया जिले के कोड़र सुकुनपुरा गांव निवासी सुबेदार साहनी की बेटी सरोज का खाता इलाहाबाद बैंक की बांसडीह शाखा में है। सोमवार को वह बैंक पहुंची और अपने खाते का बैलेंस चेक कराया तो उसके होश उड़ गए। बैंककर्मी ने बताया किउसके खाते में 9 करोड़ 99 लाख 4 हजार 736 रुपये हैं। अपने खाते में इतनी बड़ी रकम सुनकर किशोरी हैरान रह गई। उसने तत्काल इसकी शिकायत बैंक मैनेजर से की और पुलिस को मामले की तहरीर दी। प्रकरण का पता चलने के बाद किशोरी के बैंक खाते के संचालन पर रोक लगा दी गई।

Loading...


बैंक कर्मचारियों की मानें तो बैंक खाते से रुपये का कई बार लेन-देन किया गया है, जिसके बारे में सरोज ने कुछ भी पता होने से इनकार कर दिया। उसका कहना है कि उसके अकाउंट में इतनी बड़ी रकम कैसे आयी वह इस बारे में कुछ नहीं जानती और वह रकम भी उसकी नहीं है। सरोज ने पुलिस को अपना अकाउंट डिटेल, देकर जांच कर कार्रवाई की मांग की है।


किशोरी सरोज ने पुलिस को दी तहरीर में बताया है कि उसका खाता 2018 से है। दो साल पहले कानकपुर देहात के ग्राम पकरा पोस्ट बधीर से निलेश नाम के व्यक्ति ने सरोज को फोन कर पीएम आवास दिलाने के नाम पर उससे आधार कार्ड व फोटो आदि मांगे, जिसके बाद सरोज ने आधार कार्ड की फोटो काॅपी व दूसरे कागजात उसके बताए गए पते पर भज दिये। बाद में सरोज के नाम से डाक द्वारा एक एटीएम आया, जिसे उस व्यक्ति के कहने पर सरोज ने उसके पते पर रिजस्ट्री कर दिया और एटीएम का पिन भी बता दिया। सरोज के मुताबिक निलेश कुमार नाम के व्यक्ति से जिस मोबाइल नंबर पर बातचीत होती थी, वह अब बंद बता रहा है।

उधर इस बाबत बांसडीह कोतवाली के प्रभारी निरिक्षक राजेश कुमार सिंह ने स्थानीय मीडिया को बताया कि खाते में 9 करोड़ 99 लाख रुपये आने की पूरी जांच बैंक पुलिस के सहयोग से करेगा। जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।


पढ़ी लिखी नहीं है सुनीता, किसी तरह साइन कर लेती है

हैरानी इस बात की है कि रुकुनपुरा की 16 साल की जिस सुनीता के खाते में करोड़ों रुपये आए हैं वह पढ़ी लिखी नहीं है। सुनीता के मुताबिक उसके पिता अहमदाबाद के किसी गैरेज में काम करते हैं। वह कभी स्कूल नहीं गई और पढ़ायी नहीं करती हैं किसी तरह अपना हस्ताक्षर बना पाती है। अपने हस्ताक्षर से ही उसने खाता खोला था।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker