7 करोड़ यूजर्स के मोबाइल नंबर हो सकते हैं बंद, TRAI ने जारी की डेडलाइन

देश के 7 करोड़ मोबाइल यूजर्स के नबंर बंद होने का खतरा मंडरा रहा है। TRAI यानि टेलिकॉम रेग्युलेटरी ऑथिरिटी ऑफ इंडिया (भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण) ने इन मोबाइल यूजर्स को अपना नंबर पोर्ट कराने की डेडलाइन जारी की है। इन 7 करोड़ यूजर्स को 31 अक्टूबर तक अपना नंबर किसी अन्य ऑपरेटर में पोर्ट करवाना होगा। अगर, ये यूजर्स अपना मोबाइल नंबर किसी अन्य ऑपरेटर में पोर्ट नहीं करवाते हैं तो उनका नंबर हमेशा के लिए डिसेबल हो जाएगा, यानि कि ये नंबर दोबारा एक्टिवेट नहीं हो पाएंगे। ये पूरा मामला 2018 में बंद हुई टेलिकॉम कंपनी Aircel से जुड़ा हुआ है। दरअसल, 2018 में रिलायंस जियो (Jio) एवं अन्य टेलिकॉम कंपनियों से मिलने वाली कड़ी चुनौती के बाद Aircel को अपनी वायरलेस सर्विस बंद करनी पड़ी थी।

ये है पूरा मामला

फरवरी 2018 में Aircel ने अपनी सर्विस पूरी तरह से बंद कर दी। उस समय कंपनी के 9 करोड़ यूजर्स थे। Aircel ने TRAI से इन यूजर्स के लिए UPC ( यूनिक पोर्टिंग कोड) देने के लिए कहा था, ताकि ये यूजर्स अपने मोबाइल नंबर को किसी अन्य नेटवर्क में पोर्ट कर सकें। TRAI की रिपोर्ट के मुताबिक, इन 9 करोड़ यूजर्स में से करीब 2 करोड़ यूजर्स ने तो अपने नंबर पोर्ट करवा लिए थे, लेकिन अभी भी 70 मिलियन यानि की 7 करोड़ यूजर्स ऐसे हैं जिन्होंने अपना नंबर पोर्ट नहीं करवाया है। TRAI ने अब इन 7 करोड़ यूजर्स के लिए मोबाइल नंबर पोर्ट कराने की डेडलाइन 31 अक्टूबर 2019 रखी है।

Aircel और डिशनेट के कस्टमर्स होंगे प्रभावित

Aircel ने फरवरी 2018 में अपनी सर्विस बंद करने के बाद TRAI से अपने यूजर्स के लिए एडिशनल UPC देने का आग्रह किया था। इसके बाद दूरसंचार प्राधिकरण ने Aircel के इस आग्रह पर 28 फरवरी को इन यूजर्स के लिए एडिशनल कोड जारी किया था। 28 फरवरी 2018 से लेकर 31 अगस्त 2019 के बीच करीब 19 मिलियन यानि की 2 करोड़ यूजर्स ने अपने नंबर को किसी अन्य ऑपरेटर में पोर्ट करवा लिया था। बांकि के बचे 7 करोड़ यूजर्स ने अभी तक अपने नंबर को पोर्ट नहीं करवाया है। इसमें Aircel और डिशनेट के कस्टमर्स शामिल हैं।

ऐसे जेनरेट करें UPC

फरवरी 2018 में जब Aircel ने अपनी सर्विस बंद करने की घोषणा की थी तो उसने अपने यूजर्स को वेबसाइट के जरिए नंबर पोर्ट कराने के लिए कहा था। हालांकि, अब Aircel का वेबसाइट काम नहीं कर रहा है। ऐसे में यूजर्स को मैनुअली अपना नंबर पोर्ट करवाना होगा। मैनुअली नंबर पोर्ट कराने के लिए यूजर्स को सबसे पहले UPC पोर्ट जेनरेट करना होगा। इसे जेनरेट करने के लिए यूजर्स को मैसेज बॉक्स मे जाकर PORT और अपना मोबाइल नंबर टाइप करना होगा। इसके बाद इसे 1900 पर सेंड करना होगा। 1900 पर मैसेज सेंड करने के बाद यूजर्स को UPC कोड एसएमएस के जरिए रिसीव होगा। इस कोड की मदद से यूजर्स किसी अन्य ऑपरेटर के नेटवर्क में अपना नंबर पोर्ट करवा लेंगे। ध्यान रहे कि इसकी डेडलाइन 31 अक्टूबर रखी गई है।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit exceeded. Please complete the captcha once again.

E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker