बिकरू कांड की साजिश में अमर की पत्नी खुशी को पुलिस ने भेजा जेल, नाबालिग भाई ने किया ये खुलासा

बिकरू गांव में 2 जुलाई की रात हुए शूटआउट में जेल भेजी गई नवविवाहिता खुशी दुबे (अमर दुबे की पत्नी) जेल से नहीं छूटेगी। इतना ही नहीं, अमर के माता-पिता को भी जेल भेज दिया है। अब पुलिस की रडार पर अमर दुबे का नाबालिग छोटा भाई भी है। वहीं, कानपुर पुलिस औऱ एसटीएफ ने बिकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे समेत छह आरोपियों को ढेर कर दिया है। साथ ही 12 से अधिक लोगों को जेल भेज दिया गया है।

अमर दुबे के छोटे भाई ने 2 जुलाई रात की बिकरू गांव में हुए शूटआउट का खुलासा पुलिस पूछताछ में किया। उसने बताया कि अमर दुबे ने भी पुलिस पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई थीं। इतना ही नहीं, उसने बताया कि जब पुलिसकर्मी भाग रहे थे तो अमर और विकास दुबे उन्हें पकड़-पकड़कर गोलियां मार रहे थे। 

Loading...

अमर, विकास दुबे का दाहिना हाथ था। पुलिस के मुताबिक दो जुलाई की रात भी विकास के साथ अमर दुबे, प्रभात, अतुल, जिलेदार, राम सिंह यादव समेत कई गुर्गे पुलिस से सीधे मोर्चा लिए थे। अमर के छोटे भाई ने बताया कि विकास ने अमर को बुलाया था। कुछ देर बाद असलहा लेकर घर आया और छत पर चला गया। कुछ देर बाद ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू हो गई।

अमर उजाला की खबर के मुताबिक, छोटे भाई ने बताया कि वारदात के बाद जब अमर घर से भाग रहा था तो उसने कहा था कि अब बात नहीं हो पाएगी। फोन बंद कर दिया है। विकास के साथ रहेंगे, परेशान न होना। पुलिस आए तो कह देना डर की वजह से भाग गया। हालांकि जांच में उसकी पत्नी, पिता व मां की भी भूमिका मिली थी। इसके बाद सभी को जेल भेजा गया था।

पुलिस अमर के नाबालिग भाई से पूछताछ कर चुकी है। उसके बयान बेहद अहम हैं। पुलिस अब तफ्तीश कर रही है कि अमर के साथ वह भी था कि नहीं। साक्ष्य नहीं मिलते हैं तो पुलिस उसे गवाह भी बना सकती है। पुलिस अमर की नवविवाहिता पत्नी खुशी को साजिश में शामिल होने और माता-पिता को वारदात के वक्त अमर को कारतूस उपलब्ध कराने के आरोप में जेल भेजा है।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker