सीएए विरोध : कानपुर में महिलाओं का सड़क पर जोरदार प्रदर्शन, बेगुनाहों को फंसाने का लगाया आरोप

- धरने को खत्म करने के लिए पुलिस ने बनायी योजना, उकसाने वालें होंगे चिन्हित

कानपुर । नागरिकता संशोधन एक्ट (सीएए) के विरोध में सोमवार को दोबारा धरने में बैठी महिलाओं का प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी रहा। महिलाओं का कहना है कि सीएए के विरोध में धरना जारी रहेगा और उन्होंने सीएए के विरोध के नाम पर बेगुनाहों को फंसाने का आरोप लगाया। महिलाओं ने साफ कहा कि पहले प्रशासन उन बेगुनाहों को छोड़ने का काम करे इसके बाद बातचीत होगी। भारी संख्या में मौजूद मुस्लिम महिलाएं शाहीनबाग जैसा धरने की बात कह रही है और वह हटने का नाम नहीं ले रही हैं।

Loading...

दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज कानपुर के मोहम्मद अली पार्क में महिलाएं सीएए का विरोध कर रही थी। 33 दिन बाद प्रशासन ने शनिवार को राष्ट्र गान के साथ धरने को खत्म करा दिया था पर इसके बाद सोमवार को दोबारा महिलाएं पार्क में धरने को लेकर पहुंच गयी, जिस पर पुलिस ने अनुमति नहीं दी तो सड़क पर ही धरना शुरु हो गया और दूसरे दिन भी सड़क पर महिलाओं का धरना जारी रहा। विरोध कर रही महिलाआें का कहना है कि सीएए का विरोध जारी रहेगा और जब तक सरकार सीएए को लेकर बैकफुट पर नहीं आती तो हम शांतिपूर्ण धरना देती रहेंगी। इसके साथ ही महिलाओं ने आरोप लगाया कि कानपुर में सीएए के विरोध में बहुत से लोगों को पुलिस ने जबरन फंसा दिया है। पुलिस पहले उन बेगुनाहों को छोड़े तभी किसी प्रकार की बात की जाएगी। वहीं प्रशासन फिलहाल बैकफुट पर दिखाई दे रहा है, हालांकि सूत्र बताते हैं कि अबकी बार पुलिस किसी प्रकार की कोई कमी नहीं छोड़ना चाहती और उकसाने वालों पर सख्त कार्रवाई कर सकती है।

पुलिस अधीक्षक पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने मंगलवार को बताया कि कुछ महिलाओं के द्वारा क्षेत्र में प्रदर्शन किया जा रहा है जब उनसे बात की गई तो उनका साफ तौर पर कहना है कि, हम इस धरने को शाहीनबाग की तर्ज पर करना चाहते हैं। कुछ लोगों और कुछ संगठनों के द्वारा इन महिलाआें को उकसाया जा रहा है जिसकी वजह से ये महिलाएं पार्क छोड़ सड़क पर काफी संख्या में बैठ गयी है। हालांकि सोमवार की अपेक्षा मंगलवार को इनकी संख्या में काफी कमी आयी है। बताया कि फिलहाल इन महिलाआें के बीच कोई भी पुलिसकर्मी को नहीं तैनात किया गया है। पुलिसकर्मियों को बाहर की तरफ तैनात किया गया है। उकसाने वाले संगठन कौन है इसमें कौन कौन शामिल है और इसमें किस संगठन का हाथ हो सकता है, इसकी जानकारी की जा रही है। एसएसपी अनंत देव ने कहा कि दोबारा धरना आपसी राजनीति का नतीजा है। धरने से संबधित सभी लोगों से बातचीत कर जल्द ही धरने को खत्म कराया जाएगा।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker