गाजीपुर : दो तस्कर गाजीपुर पुलिस के फंदे में, भारी मात्रा में असलहा बरामद

बलिया हथियारों की डिलिवरी देने जा रहे थे कार सवार तस्कर
गाजीपुर जनपद की दुल्लहपुर थाना पुलिस और स्वाट टीम ने मंगलवार की देर रात हल्की मुठभेड़ के बाद कार सवार दो असलहा तस्करों को गिरफ्तार किया। उनके पास से हथियारों का जखिरा बरामद किया। बुधवार को पुलिस कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह ने अभियुक्तों को मीडिया के समक्ष पेश किया। उन्होनें बताया कि गिरफ्तार युवक लम्बें समय से असलहा तस्करी के कार्य में लिप्त थे। उज्जैन से असलहों को लिया था और बलिया डिलिवरी देने जा रहे थे।

इससे पहले भी खेप की सप्लाई कर चुके है। जहां से असलहा लेकर चले थे और जहां लेकर जा रहे थे, उन समस्त लोगों को ट्रेस कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।एसपी डा.ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि दुल्लहपुर थाना प्रभारी निरीक्षक पन्ने लाल पुलिस कर्मियों के साथ रात में गश्त पर थे। इसी दौरान स्वाट प्रभारी निरीक्षक विनीत राय वहां पहुंचे। इसी बीच सूचना मिली कि एक चार पहिया वाहन में कुछ संदिग्ध लोग अवैध असलहा लेकर तस्करी करने जा रहे है। इस पर पुलिस टीम ने मरदह बार्डर बहलोलपुर के पास वाहन चेकिंग शुरू कर दी। रात करीब ढाई बजे सामने से एक कार आती दिखाई दी। जैसे ही पुलिस ने रुकने का इशारा किया तो कार में सवार बदमाश ने पुलिस टीम पर फायर कर दिया। पुलिस ने अपने को बचाते हुए घेराबंदी कर कार को रोक लिया । उसमें सवार दो बदमाशों को धर दबोचा।

तलाशी लेने पर कार से 315 बोर का 9 तमंचा, 8 कारतूस, एक खोका, 32 बोर का 2 पिस्टल, 4 कारतूस, 30 बोर का 1 पिस्टल, 2 कारतूस बरामद किया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गिरफ्त में आए तस्करों में आजमगढ़ जिले के जीयनपुर थाना के रशीदाबाद निवासी कमलेश यादव और मऊ जिले के मुहम्मदाबाद गोहना थाना के चौबेपुर इटौरा निवासी रामाश्रय यादव शामिल है। इनका संबंधित धाराओं में चालान कर दिया गया। इस कामयाबी के लिए पुलिस अधीक्षक ने पुलिस टीम को पांच हजार का पुरस्कार दिया। गिरफ्तार करने वाली टीम में उपनिरीक्षक मनोज तिवारी, हेड कांस्टेबल संजय कुमार, रामभवन यादव, रामप्रताप सिंह, विनय यादव, हेड कांस्टेबल राकेश पाण्डेय, कांस्टेबल राणा प्रताप सिंह, आशुतोष सिंह, विकास श्रीवास्तव, संजय प्रसाद, दिनेश यादव, ओम प्रकाश सिंह, ओमप्रकाश, आशुतोष सिंह पटेल, अभिषेक वर्मा, पिंटू कुमार शामिल थे।

Back to top button
E-Paper