भारत को मिला पहला ऐतिहासिक “राफेल विमान”, रक्षा मंत्री ने परंपरानुसार की शस्त्र पूजा कर भरी उड़ान

Image

 

भारत को आज पहला राफेल लड़ाकू विमान मिल गया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस मौके परंपरानुसार शस्त्र पूजा की।
राजनाथ सिंह ने राफेल विमान पर ऊं लिखा और विमान में रक्षा सूत्र बांधा। उन्होंने विमान पर नारियल, फूल आदि चढ़ाये और विमान के टायरों के नीचे नीबू भी रखे। ‘

Loading...

इसके बाद उन्होंने इस लड़ाकू विमान से उड़ान भी भरी। बता दें कि 19 सितंबर को राजनाथ सिंह ने स्वदेशी तेजस विमान से भी उड़ान भरी थी। इससे पहले राफेल के हैंडओवर समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह एक ‘ऐतिहासिक दिन’ है. यह भारत और फ्रांस के बीच गहरा संबंध दिखाता है। उन्होंने कहा कि राफेल विमान के शामिल होने से एयरफोर्स की क्षमता में इजाफा होगा।

रक्षा मंत्री ने विमान बनाने वाली दासों कंपनी का दौरा भी किया। इस अवसर पर फ्रांस और भारतीय वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। रक्षा मंत्री ने इस मौके पर आयोजित समारोह में कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक है और भारतीय सेना के इतिहास में मील का पत्थर है यह समारोह भारत और फ्रांस के बीच सामरिक साझेदारी के महत्व को रेखंकित करता है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच सम्बन्ध और मजबूत हुए है।

इससे पहले रक्षा मंत्री ने फ़्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से भी मुलाकात की। राफेल विमान पर 300 किलोमीटर मारक क्षमता वाली स्कैल्प और मिटियोर मिसाइल तैनात की जा सकती हैं। परमाणु बम लेने जाने की भी क्षमता इस विमान में है।

 

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker