पाकिस्तान का प्रोपेगेंडा फेल, भारत के Mi-17 पर फैलाया झूठ!

आतंकी देश पाकिस्तान एक ऐसा बेहया बेशर्म और भिखारी मुल्क है जो अपने यहां के कंगाली हालातों पर पर्दा डालकर भारत के खिलाफ झूठ फैलाता रहता है. कभी भारत पर इस्लामोफोबिया का आरोप लगाता है तो कभी जम्मू कश्मीर को लेकर नए नए प्रोपेंगेडा लॉंच करता है मगर भारत उसे हर बार नंगा किए बिना नहीं छोड़ता. यानी कि पाकिस्तान एक कुत्ते की पूंछ की तरह है जो कभी सीधी नहीं हो सकती है. भारत के हाथों बार बार पीटने के बाद भी पाकिस्तान अपनी बुरी आदतों को नहीं छोड़ रहा है. एक बार फिर से पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ दुनिया में झूठ फैलाने की कोशिश की मगर इस बार भी उसका झूठ पकड़ा गया और अब दुनियाभर में उसकी हंसाई हो रही है.

दरअसल दुनिया के सामने भारत को कमजोर दिखाने के लिए आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान ने सोशल मीडिया पर नए झूठाया है. हाल ही में पाकिस्तानी पत्रकार ने एक तस्वीर को शेयर करके ये बताने की कोशिश की है कि भारत का ‘M-17’ लद्दाख में क्रैश हो गया है और इस संबंध में वो भारतीयों को जानकारियाँ देते रहेंगे. ट्विटर पर पाकिस्तानी पत्रकार मुबाशेर लुकमान ने एक क्रैश विमान की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा कि “भारतीयों चेक करो, क्या ये तुम्हारा M 17 लद्दाख में क्रैश हो गया है. हम तुम्हें इससे जुड़ी जानकारियाँ देते रहेंगे.”

Loading...

इसके बाद तो पाकिस्तानी इतने खुश हो गए कि उन्होंने इस तस्वीर की सच्चाई जाने बिना ही इसे सोशल मीडिया पर धड़ल्ले से शेयर करना शुरू कर दिया है.

इमरान खान की पीटीआई से जुड़ी डॉ फातिमा ने इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा, “बस एक दरख्वास्त है!!! हमारे लिए भी कुछ राफेल्स रखे रखना.”

दिलचस्प बात ये है कि जिस तस्वीर को पाकिस्तानी पत्रकार, वहाँ की अवाम और पीटीआई से जुड़े लोग सोशल मीडिया पर खुशी-खुशी शेयर कर रहे हैं, वो तस्वीर वास्तविकता में साल 2018 की है.

जी हाँ, पाकिस्तानियों की ओर से शेयर की जा रही तस्वीर 3 अप्रैल 2018 को उत्तराखंड के केदारनाथ में हुई एक दुर्घटना की है. 3 अप्रैल 2018 की सुबह प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान की मरम्मत के लिए Mi-17 निर्माण कार्यों से जुड़ा सामान लेकर केदारनाथ मंदिर के पीछे बने वीआईपी हैलीपैड पर लैंडिंग करने जा रहा था. मगर, बीच में ही ये घटना हो गई और सुबह के 8 बजकर 10 मिनट पर वहाँ से वायुसेना का एमआई 17 क्रैश होने की खबर आई. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस दुर्घटना के समय विमान में पायलट समेत 6 वायुसैनिक सवार थे. लेकिन राहत की बात ये थी कि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ था. खुद सोशल मीडिया पर भारतीय यूजर्स ऐसे प्रोपेगेंडा का मुँहतोड़ जवाब दे रहे हैं. शिव अरूर ने पाकिस्तानी पत्रकार के ट्वीट का रिप्लाई करते हुए लिखा है कि, “मुबाशेर, ये 2018 की तस्वीर है उत्तराखंड से. 55 लाख फॉलोवर्स के होते हुए भी तुम अपना पायजामा चायनीज को दे आए.”

साफ है कि कंगाल मुल्क के लोगों की ओर से सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही तस्वीर क्रैश हुए M-17 की ही है लेकिन पाकिस्तानी इसे जिस मकसद से लद्दाख में क्रैश हुआ बता रहे हैं, वो चीन की चाटुकारिता ही है. घटना न तो हाल फिलहाल की है और न ही लद्दाख की. इसलिए तस्वीर के साथ शेयर किए जा रहे कैप्शन से यही पता चलता है कि एक बार फिर झूठे दावों का इस्तेमाल करके पाकिस्तान अपना और चायनीज प्रोपेगेंडा फैलाना चाहता है.

अब पाकिस्तान की इस दोगली हरकत पर किसको हंसी नहीं आएगी क्यों कि जो चीनी पाकिस्तानियों को उसके घर में ही पीट रहे हों. यहां तक कि चीनियों की इतनी हिम्मत हो गई है अब वो पाकिस्तान की फौज को बुरी तरह से पीटने लगे हैं. लेकिन फिर भी पाकिस्तानी चीन के ही चमचे बने हुए. और बात रही भारत की तो कायर चीन की इतनी औकात नहीं है कि वो भारतीयों से हाथ भी टच कर दे. चीनियों को लद्दाख में भारतीय सेना ने गर्दन तोड़ पराक्रम दिखाकर किस तरह से उनका बुरा हाल कर दिया था उसे पूरी दुनिया देख चुकी है और भारत के एक्शन से चीन किस तरह से घबराया हुआ है उसे भी विश्व देख रहा है. इसलिए पाकिस्तान चीन का चाटुकार बनकर कितना भी भारत के खिलाफ झूठ फैला ले मगर उसे हर बार मुंह ही खानी पड़ेगी.

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker