आत्मदाह से पहले ही युवक को थाने उठा ले गई पुलिस

वित्तीय अनियमितता का जिन्न कही बाहर निकला तो नाप दी जावेगी प्रधान व सिग्रेटरी की गर्दन

भास्कर न्यूज
जरवल/बहराइच। गांव में बनी पुरानी नाली को दिखाकर नई नाली का पैसा निकाल लिया गया। युवक ने जिलाधिकारी , मंडलायुक्त और मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर जांच कर कार्रवाई की मांग करते हुए   5 सितंबर को ब्लॉक मुख्यालय पर आत्मदाह की चेतावनी दी थी। जांच और कार्यवाही करने की बात तो दूर,युवक के आत्मदाह की नोटिस को 20 दिन तक प्रशासनिक अफसर दबाए बैठे रहे। जरवल ब्लाक के ग्राम पंचायत धनसरी निवासी संजय कुमार तिवारी ने ग्राम पंचायत धनसरी के प्रधान और सेक्रेटरी पर गम्भीर आरोप लगाते हुए जिला अधिकारी बहराइच मंडलायुक्त देवीपाटन मंडल गोंडा और मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश को पत्र भेजकर गांव में हुए नाली निर्माण में घोटाले की मांग करते हुए जांच एवं कार्रवाई की मांग की गई थी। जांच एवं कार्रवाई ना होने पर 5 सितंबर को जरवल ब्लॉक मुख्यालय पर आत्मदाह करने की चेतावनी भी दी गई थी। जिले के प्रशासनिक महाकमे ने युवक की शिकायत और उसकी चेतावनी को नजरअंदाज कर दिया। खुफिया विभाग से इनपुट मिलने के बाद जरवलरोड पुलिस हरकत में आ गई और युवक को उसके घर से उठा कर थाने ले गई।पीड़ित श्री तिवारी ने बताया की हमने कई बार उच्चाधिकारियों को जांच और कार्रवाई के लिए पत्र भेजा लेकिन अधिकारियों ने जांच नहीं किया और मामले को दबा दिया। पीड़ित का कहना है कि गांव में पुरानी नाली पहले से बनी हुई थी। ग्राम प्रधान ने पुरानी नाली को दिखाकर सात लाख रुपए का घोटाला किया है, जिसकी जांच कराकर मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए। इस संबंध में खंड विकास अधिकारी जरवल आसाराम  ने बताया कि प्रकरण उच्चाधिकारियों के संज्ञान में हैं।शिकायत कर्ता द्वारा लगाए गए आरोपों की जांच पुराने अभिलेखों को खंगाल कर किया जाएगा।आरोपों की पुष्टि होने पर सम्बन्धित पर मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

Back to top button
E-Paper