भू्रण हत्या व दहेज प्रथा को समाप्त करने में आगे आए समाज

– मानव शिक्षा सेवा संस्था ने कराया दहेज रहित विवाह 
 
गोरखपुर। मानव शिक्षा सेवा संस्था द्वारा सोमवार को साईं मंदिर खडेसरी परिसर में दो जोडों का दहेज रहित विवाह कराया गया। शादी के पश्चात वर व वधू पक्ष को गृहपयोगी उपहार भी दिया गया।    खडेसरी निवासी रामसमुझ की पुत्री निशा की शादी भलुआन के हरिकेश के साथ तथा खडेसरी की पूनम की शादी दिनेश के साथ तय थी। कन्या पक्ष की आर्थिक स्थिति को देखते हुए मानव सेवा संस्था के प्रबंधक आलोक गुप्ता, ग्राम प्रधान प्रतिनिधि ललकू यादव व उनकी पत्नी शशिप्रभा यादव नेे विवाह का खर्च स्वयं उठाने का वादा किया और सोमवार को साईं मंदिर परिसर में पंडित राजेश पांडेय द्वारा विवाह कार्य संपन्न कराया गया।

कार्यक्रम में घराती व बराती पक्ष के लोगों के भोजन की व्यवस्था की गई थी। नववधुओं को कपडा, जेवर बेड आलमारी कुर्सी मेज व सिलाई मशीन सहित अन्य सामान उपहार स्वरूप प्रदान किया गया। वर व वधू को आशीर्वाद देते हुए मुख्य अतिथि निखिल उर्फ राजा सिंह ने कहाकि दहेज जैसी कुप्रथा को समाप्त करने में ऐसे आयोजन सार्थक साबित होंगे। समाजवादी पार्टी पिछडा वर्ग प्रकोष्ठ की पूर्व प्रदेश सचिव पूनम गुप्ता व मानव सेवा संस्था के प्रबंधक आलोक गुप्ता ने कहाकि भू्रण हत्या तथा दहेज जैसी कुप्रथाओं को रोकने में दहेज रहित विवाह सशक्त माध्यम है। इन कुप्रथाओं के सूमल नाश हेतु समाज के हर वर्ग के लोगों को आगे आना चाहिए।

विवाह के पश्चात वर व वधू पक्ष के लोगों ने संस्था के प्रति आभार प्रकट किया। इस अवसर पर प्रिया गुप्ता, गीता पाल, सुरेश राय, मनोज कुमार, दिनेश पाल, विनोद नायक, बालकेश्वर यादव, अजीत गौड, रोशन राय, अजीत गुप्ता, शिखर गुप्ता, रजत, नेहा गुप्ता, अलाउद्दीन खान, शेषनाथ पासवान, राजेश यादव, रवींद्र शर्मा, सुधीर शर्मा, दीपू, सुजीत, इंद्रजीत पिंटू, चंद्रप्रकाश सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Back to top button
E-Paper