कानपुर हत्याकांड की कहानी : लाठी-डंडे, तमंचा लेकर खड़े थे विकास और उसके साथी, 50 से ज्यादा राउंड चली गोलियां, जगह जगह पड़े खून के धब्बे

कानपुर. यहां बिकरु गांव में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्याकांड के पीछे मुखबिरी होने की बात सामने आ रही है। सूत्रों की मानें तो हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पहले से ही मालूम हो गया था कि रात में उसके घर दबिश पड़ने वाली है। कौन-कौन टीम में शामिल रहेगा और फोर्स की संख्या कितनी हो सकती है? इसकी डिटेल विकास के पास थी। बदमाशों को यह तक पता था कि पुलिसवालों के पास कौन कौन से हथियार होंगे। यही वजह थी कि बदमाश ने घर के सामने जेसीबी खड़ी कर पुलिस का रास्ता रोक दिया था। एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि पुलिसकर्मियों से चूक हुई है। इसकी जांच की जाएगी। 

Loading...

लाठी-डंडे, तमंचा लेकर खड़े थे विकास और उसके साथी

गांव में विकास का घर किलेनुमा है। घर के चारों तरफ बड़ी बाउंड्रीवाल है। घर में तीन तरफ से गेट है। घर के भीतर कोई देख नहीं सकता है। लेकिन छतों से पूरे गांव को देखा जा सकता है। गुरुवार रात करीब एक बजे पुलिस की टीम विकास के घर के पास पहुंची तो घर से कुछ दूर रास्ते में जेसीबी को लगाकर रास्ता रोका गया था। इसलिए पुलिस अपनी गाड़ी से मौके तक नहीं पहुंच सकी। विकास और उसके साथी लाठी-डंडा और असलहे लेकर खड़े थे। जब पुलिस टीम घर की तरफ पैदल बढ़ी तो पुलिस से उनकी झड़प हो गई। उसके बाद पुलिस के असलहों को छीनकर उन पर फायर कर दिया गया।

50 से ज्यादा राउंड चली गोलियां, जगह जगह पड़े खून के धब्बे

वारदात के समय करीब 50 से ज्यादा राउंड गोलियां चली हैं। लेकिन गांव वाले कुछ बोलने को तैयार नहीं है। विकास के घर के आसपास 100 मीटर की दूरी तक खून के धब्बे पड़े हुए हैं। आसपास के लोगों का कहना है कि उन्होंने कुछ नहीं देखा है। सिर्फ फायरिंग की आवाज सुनी है। 

कब क्या-क्या हुआ- 

  • 12:30 से एक 1 के बीच: बिल्हौर सीओ देवेंद्र मिश्रा के नेतृत्व में चौबेपुर, शिवराजपुर और बिठूर पुलिस बिकरु गांव पहुंची। लेकिन रास्ते में जेसीबी थी, इसलिए पुलिस पैदल ही घर की तरफ बढ़ी। 
  • 1.15 बजे: घर के पास पुलिस पहुंची गई। पुलिस को इस बात का अंदाजा नहीं था कि विकास दुबे के साथ कितने लोग हैं और कहां छिपे हैं। पुलिस टीम को चारों तरफ से घेर लिया गया था। 
  • 1.30 बजे: बदमाशों और पुलिस के बीच फायरिंग शुरू हो गई।
  • 2.15 बजे: पुलिस और बदमाशों के बीच फायरिंग होती रही। इसी बीच अंधेरे का फायदा उठाते हुए विकास दुबे अपने साथियों के साथ भाग गया। 
  • 3:15 बजे: इस मुठभेड़ में घायल पुलिसकर्मियों को लेकर पुलिस रीजेंसी हॉस्पिटल पहुंची। जहां पर सीओ समेत 8 पुलिसकर्मियों को मृत घोषित कर दिया गया।
  • 4:00 बजे: करीब 24 थानों की फोर्स, पीएसी मौके पर पहुंची। फॉरेंसिक टीम, डॉग स्क्वॉयड ने घटना स्थल का निरीक्षण किया।
Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker