डॉक्टर में दिखे कोरोना के लक्षण, दो बार टेस्ट में रिपोर्ट आई निगेटिव, मौत के कुछ घंटे पहले…

नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Coronavirus iN Delhi) का संक्रमण तेजी से लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। हालांकि, संक्रमण की रोकथाम के लिए केंद्र और राज्य सरकार मिलकर काम कर रही है, उसके बावजूद कोरोना के मामलों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। शनिवार को दिल्ली (Coronavirus Delhi Update) में कोरोना (Coronavirus Symptoms) के मामलों के आंकड़े 92,175 हो गए हैं। वहीं, कोरोना वायरस (Coronavirus Outbreak) की चपेट में आने से 2,864 लोगों की मौत हुई है।

Loading...


कोरोना वायरस इतना खतरनाक बन चुका है कि इससे बच पाना बहुत ही मुश्किल हो रहा है। कई मामले ऐसे आ रहे हैं जिसमें लक्षण ही नहीं दिखाई दे रहे हैं। इसके चलते इलाज करना बेहद मुश्किल हो रहा है। एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसने सबको चौंका दिया है। यह मामला दिल्ली का है, जहां 26 साल का युवक कहता रहा कि उसमें कोरोना के लक्षण है। उसका दो बार कोरोना टेस्ट भी किया गया लेकिन दोनों बार ही रिपोर्ट नेगेटिव आई। हैरान कर देने वाली बात तब सामने आई जब 2 दिन बाद युवक की मौत हो गई। परिजनों का कहना है कि वह स्वस्थ था और अचानक से उसे दिक्कत शुरू हुई। जब तक उसे ऑक्सीजन दिया जाता तब तक बहुत देर हो गई थी।

मौत से पहले हो रही थी सांस की दिक्कत

ये घटना दिल्ली स्थित मौलाना आजाद डेन्टल इंस्टीट्यूट साइंसेज (MAIDS) में जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर के पद पर ओरल सर्जरी ऑफ डेंटल इंस्टीट्यूट में कार्यरत डॉक्टर अभिषेक भयाना से जुड़ा है। अपनी मौत से कुछ घंटे पहले 26 वर्षीय भयाना ने अपने भाई अमन से कहा था- ‘मुझे सांस लेने में दिक्कत हो रही है। मुझमें कोरोना के लक्षण हैं। मैं 100% पॉजिटिव हूं।’ हालांकि वह दो बार कोरोना की जांच में निगेटिव पाए गए थे। उन्होंने AIIMS MDS परीक्षा में 21वीं रैंक हासिल की थी और काउंसलिंग के लिए 26 जून को हरियाणा स्थित रोहतक गए थे।

शुक्रवार को हुआ अंतिम संस्कार

एक अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक अभिषेक का शुक्रवार को अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान भाई अमन ने बताया कि – ‘गुरुवार की सुबह उसे चक्कर आने लगा, इससे पहले वह पूरी तरह से ठीक था, मैं उसे बताता रहा कि उसे कुछ नहीं होगा। हमें अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है कि वह हमारे साथ नहीं है। हमारे माता-पिता सदमे में हैं।’


भयाना के भाई अमन ने कहा, ‘हम उसे एक चेस्ट स्पेशलिस्ट के पास ले गए। एक्स-रे किया गया और हमें बताया गया कि उसे सीने में इंफेक्शन है। हम यह मानकर चल रहे थे कि यह वायरल बुखार के अलावा कुछ नहीं था, लेकिन उन्होंने कहा कि लक्षण चेस्ट इंफेक्शन के नहीं थे, क्योंकि उन्हें सांस की तकलीफ थी।’ भाई ने बताया कि वह कहता रहा कि उसे कोरोना है। दो बार टेस्ट कराने के बाद भी रिपोर्ट निगेटिव आई। व दो दिन बात उसकी मौत हो गई।

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker