Unlock 2.0 guidelines: जानिए कहां-कहां मिलेगी छूट और क्या होगी सख्ती

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों (Coronavirus cases)के बीच देश अनलॉक 2.0 की ओर बढ़ गया है। जैसी उम्‍मीद थी, नई गाइडलाइंस में कुछ राहत जरूर मिली है मगर बहुत सी गतिविधियां अब भी प्रतिबंधित हैं। मेट्रो रेल सेवाएं शुरू होने की बहुतों को उम्‍मीद थी मगर सरकार ने फिलहाल इससे इनकार किया है। वहीं, कुछ स्‍पेशल इंटरनैशनल फ्लाइट्स शुरू की गई हैं मगर नॉर्मल सर्विसिज नहीं। इसके अलावा स्‍कूल/कॉलेज और कोचिंग संस्‍थान बंद ही रहेंगे। नाइट कर्फ्यू में औद्योगिक इकाइयों और अन्य जरूरी चीजों के लिए ढील दी गई है। आइए जानते हैं अनलॉक 2.0 में क्‍या-क्‍या बदलाव हुए हैं।

Loading...

रात में सिर्फ जरूरी गतिविधियों की परमिशन

नाइट कर्फ्यू की टाइमिंग थोड़ी राहत देते हुए इसका समय दो घंटे कम कर दिया गया है। अब रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक जरूरी गतिविधियों को छोड़कर बाहर निकलने पर रोक रहेगी।

इंटरनैशनल फ्लाइट्स की मिली इजाजत

नई गाइडलाइंस के अनुसार, ‘वंदेभारत मिशन’ के तहत सीमित मात्रा में इंटरनैशनल एयर ट्रेवल की इजाजत दी गई है।’ सरकार ने कहा कि धीमे-धीमे सभी उड़ानें शुरू की जाएंगी।

दुकानों में आ सकेंगे ज्‍यादा लोग मगर…

दुकानों के भीतर एक वक्‍त में 5 से ज्‍यादा ग्राहक रह सकेंगे। हालांकि उनके बीच सोशल डिस्‍टेंसिंग फॉलो होना होना अनिवार्य है। यानी बिना दो गज दूरी मेंटेन किए दुकान में ग्राहक जमा नहीं हो सकेंगे।

धीमे-धीमे बढ़ेगी फ्लाइट्स की संख्‍या

लिमिटेड लेवल पर घरेलू उड़ानें और पैसेंजर ट्रेनें पहले ही शुरू की जा चुकी हैं। अब धीरे-धीरे इनकी संख्‍या बढ़ाई जाएगी। रेलवे अभी तक सिर्फ स्‍पेशल ट्रेनें ही ऑपरेट कर रहा है।

आसानी से समझें क्‍या बंद रहेगा, क्‍या खुला

इन गतिविधियों की इजाजत

धार्मिक स्‍थल, होटल, रेस्‍तरां, शॉपिंग मॉल्‍स, सेंट्रल और स्‍टेट गवर्नमेंट के ट्रेनिंग इंस्‍टीट्यूट्स खुलेंगे। दूसरे राज्‍य जाने के लिए किसी तरह की परमिशन लेने की जरूरत नहीं है।

इनपर अभी फैसला नहीं

मेट्रो रेल सेवाएं, सिनेमा हॉल, जिम, एंटरटेनमेंट पार्क, थियेटर, स्विमिंग पूल्‍स, ऑडिटोरियम, बार, असेंबली हॉल और ऐसी ही अन्‍य जगहें बंद रहेंगी। सोशल/पॉलिटिकल/स्‍पोर्ट्स/एंटरटेनमेंट/एकेडमिक/कल्‍चरल/धार्मिक फंक्‍शंस पर भी बैन। 31 जुलाई तक स्‍कूल, कॉलेज और कोचिंग इंस्‍टीट्यूट्स भी बंद रहेंगे।

Loading...
loading...
div#fvfeedbackbutton35999{ position:fixed; top:50%; right:0%; } div#fvfeedbackbutton35999 a{ text-decoration: none; } div#fvfeedbackbutton35999 span { background-color:#fc9f00; display:block; padding:8px; font-weight: bold; color:#fff; font-size: 18px !important; font-family: Arial, sans-serif !important; height:100%; float:right; margin-right:42px; transform-origin: right top 0; transform: rotate(270deg); -webkit-transform: rotate(270deg); -webkit-transform-origin: right top; -moz-transform: rotate(270deg); -moz-transform-origin: right top; -o-transform: rotate(270deg); -o-transform-origin: right top; -ms-transform: rotate(270deg); -ms-transform-origin: right top; filter: progid:DXImageTransform.Microsoft.BasicImage(rotation=4); } div#fvfeedbackbutton35999 span:hover { background-color:#ad0500; }
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker