विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस आज, विशेषज्ञ करेंगे मानसिक समस्याओं का समाधान

महर्षि बालार्क चिकित्सालय परिसर मे लगेगा निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर

Loading...

बहराइच l  विश्व में मानसिक स्वास्थ्य के बारे जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। इस अवसर पर जनपद के महर्षि बालार्क चिकित्सालय परिसर में  मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता एवं उपचार शिविर का आयोजन किया जाएगा। शिविर का उद्घाटन सहकारिता मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार  मुकुट विहारी वर्मा द्वारा किया जाएगा। इस वर्ष मानसिक स्वास्थ्य दिवस की थीम है “दयालुता”। 
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ राजेश मोहन श्रीवास्तव ने यह जानकारी दी । उन्होने कहा जिन व्यक्तियों में नींद न आना, अत्यधिक गुस्सा आना, चिड़चिड़ापन , अत्यधिक बोलना, अत्यधिक चलना, बार बार मन में तरह तरह के विचार आना, आत्महत्या के विचार या उदासी के लक्षण हैं वह अपना उपचार इस शिविर मे करवा सकते हैं।
मनोरोग विशेषज्ञ डॉ विजित जायसवाल ने बताया कोविड-19 के चलते लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर खासकर घर में रह रहे बच्चों एवं उनके अविभावकों पर भी इसका असर पड़ा है। ऐसे में यदि किसी का व्यवहार पहले से बदल गया हो या वह असामान्य व्यवहार कर रहा हो तो उसमें मानसिक रोग के लक्षण हो सकते हैं। ऐसे व्यक्ति शिविर मे अपनी जांच करवा सकते हैं। उन्होने बताया शिविर के दौरान कोरोना को ध्यान में रखते हुये मुंह पर मास्क और दो  गज की दूरी का पालन अवश्य करना होगा । 
मानसिक रोग के अन्य लक्षण –
● तनाव, उलझन या घबराहट रहना 
● जीवन के प्रति निराश रहना
● कानों में बिना कारण किसी की आवाज सुनाई देना
● शक करना अथवा डर लगना
● एक ही बात बार-बार सोंचते रहना
● किसी भूत-प्रेत, देवी-देवता आदि की छाया का भ्रम होना
● बिना कारण गाली गलौज करना
● व्यवहार में तेजी आना
● क्षमता से अधिक बड़ी बड़ी बातें करना
● बुढ़ापे मे याददाश्त की कमी हो जाना
● लगातार सिर दर्द बने रहना
● मिर्गी बेहोशी या अन्य किसी प्रकार के दौरे आना
● किसी प्रकार का नशा करना

Loading...
loading...
E-Paper
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker