अपनी मोहब्बत साबित करने के लिए तीसरी मंजिल से कूद गई नाबालिग, जाने फिर क्या हुआ…

सोमवार देर रात करीब 12 बजे उज्जैन पुलिस को कॉल मिली थी कि उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर के पास के एक होटल से एक लड़की ने छलांग लगा दी है। लड़की को अस्पताल ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

शुरुआती तफ्तीश में पुलिस को ये भी पता चला कि जिस वक्त लड़की ने होटल की तीसरी मंजिल के कमरे से छलांग लगाई उस वक्त उस कमरे में दो लड़के मौजूद थे।

पहले तो पुलिस को ये मामला जोर जबरदस्ती का लग रहा था लेकिन जब लड़के से पूछताछ की तो पता चला कि उन दो लड़कों में से एक उसका प्रेमी है जिसके साथ वो होटल में रुकी हुई थी जबकि दूसरा लड़का उसके प्रेमी का दोस्त है।

पूछताछ में लड़को ने पुलिस को बताया कि खुदकुशी करने वाली लड़की नाबालिग थी और वो दोनों खुद भी नाबालिग हैं।

4 सितंबर को लड़की अपने घर से निकलकर लड़के के साथ आ गई थी। दोनों परिवार एक दूसरे को जानते थे। लड़का और लड़की के बीच अफेयर चल रहा था। लड़की के चले जाने के बाद जब उसके मां-बाप उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने जा रहे थे।

लड़के के परिवार ने उन्हें ये कहकर रोक दिया कि वो लड़के के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं कराएं। वो दोनों की शादी करा देंगे जिसके बाद लड़की के घरवाले मान गए।

4 सितंबर से ही लड़की लड़के के साथ थी। कुछ दिन पहले ही वो इस होटल में रहने आए थे। उन्होंने अपनी फर्जी आईडी होटल में जमा कीं और खुद को पति पत्नी बताया। इसी बीच लड़के का दोस्त दोनों से मिलने होटल आता था।

सोमवार को भी वो दोनों से मिलने होटल आया था। प्रेमी को शक था कि उसकी प्रेमिका का अफेयर उसके ही दोस्त के साथ चल रहा है। लिहाजा सोमवार को जब प्रेमी का दोस्त जब होटल पहुंचा तो उसने लड़की पर उसके साथ अफेयर होने का इल्जाम लगाना शुरु कर दिया।

प्रेमी और प्रेमिका के बीच इस बात को लेकर लड़ाई झगड़ा होने लगा। इसी लड़ाई के दौरान प्रेमी ने प्रेमिका को एक के बाद एक कई थप्पड़ मारे। प्रेमी के दोस्त के सामने इस पिटाई से लड़की इतनी ज्यादा आहत हो गई कि उसने होटल के कमरे से छलांग लगा दी।

पुलिस ने नाबालिग प्रेमी और होटल के मैनेजर के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया है जबकि प्रेमी के दोस्त के किरदार की तफ्तीश की जा रही है। शुरुआती तफ्तीश में प्रेमी के दोस्त की कोई भी भूमिका खुदकुशी के इस मामले में नहीं आई है।

हालांकि इस तरह के मामले ये साबित करने के लिए काफी है कि कच्ची उम्र के प्यार में जिंदगी के कई सारे पहलूओं को समझना और जानना मुश्किल होता है।

Back to top button
E-Paper