मेरठ : अलादीन का चिराग देने के नाम पर करोड़ों की ठगी, दो आरोपी तांत्रिक हुए गिरफ्तार

मेरठ
मेरठ के ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र से एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां दो तांत्रिकों ने ‘अलादीन का चिराग’ बेचने के नाम पर लंदन रिटर्न डॉक्टर को ढाई करोड़ का चूना लगा दिया। पीड़ित की तहरीर के बाद पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के पास से तथाकथित ‘जादुई चिराग’ भी बरामद किया गया है।

दरअसल, खैरनगर निवासी डॉ. लईक खान फिजीशन हैं। लईक ने अपनी एफआरएचएस की पढ़ाई लंदन से की है। साल 2018 में बागपत रोड निवासी समीना नाम की महिला अपने ऑपरेशन के बाद डॉक्टर लईक के संपर्क में आई थी। डॉक्टर लईक का कहना है कि इसके बाद वह अक्सर महिला की मरहम पट्टी करने के लिए उसके घर जाने लगे।

‘चिराग से निकलता था जिन्न’
डॉक्टर लईक का कहना है कि महिला के घर पर उनकी मुलाकात इस्लामुद्दीन नाम के तांत्रिक से हुई। जो खुद को बहुत बड़ा तांत्रिक होने का दावा करता था। इस्लामुद्दीन ने डॉक्टर लईक को अरबपति बनाने के सब्जबाग दिखाने शुरू कर दिए। इसके बाद इस्लामुद्दीन और उसके साथी अनीस ने डॉक्टर लईक को अलादीन का चिराग देने का वादा किया। डॉक्टर लईक का कहना है कि महिला के घर पर दोनों व्यक्ति अक्सर चिराग से जिन्न को प्रकट भी करते थे। मगर उन्हें बाद में पता चला कि यह जिन्न कोई और नहीं बल्कि खुद समीना का पति इस्लामुद्दीन था।

डॉ. लईक के मुताबिक, चिराग से जिन्न को प्रकट करने के लिए जिस सुगंधित इत्र को मंगाया जाता था, उसकी कीमत तांत्रिक ने 12 हजार बताई थी। जिन्न को प्रकट करने के एवज में कई बार उनसे हजारों रुपए तो चिराग बेचने के एवज में किस्तों के रूप में आरोपियों ने लगभग ढाई करोड़ की रकम वसूली। मगर जब कभी भी डॉक्टर लईक चिराग को अपने घर ले जाने की बात करते तो आरोपी उन्हें यह कहकर डरा देते कि अगर उन्होंने अभी चिराग को हाथ लगाया तो उनके साथ बहुत बुरा हो जाएगा।

ठगी का अहसास होने पर पुलिस के पास गया

धीरे-धीरे अपने साथ हुई ठगी का अहसास होने पर लईक की समझ में पूरा माजरा आ गया। जिसके बाद उन्होंने 2 दिन पहले एसएसपी कार्यालय में पूरे प्रकरण की शिकायत की। सीओ ब्रह्मपुरी अमित राय ने बताया कि पुलिस ने आरोपी इस्लामुद्दीन और उसके साथी अनीस को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के कब्जे से तथाकथित जादुई चिराग और तंत्र मंत्र की अन्य सामग्री बरामद की गई है। आरोपियों की साथी महिला की तलाश में दबिश दी जा रही है।

Back to top button
E-Paper