‘आप’ के संजय सिंह सदन की कार्यवाही से निलंबित, जानिए क्या है पूरा मामला

नयी दिल्ली। सभापति के आसान की ओर कागज फाड़कर फेकने और कार्यवाही में बाधा उत्पन्न करने को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) के संजय सिंह को राज्यसभा की इस सप्ताह की शेष अवधि के लिए बुधवार को निलंबित कर दिया गया और इसके बाद सदन की कार्यवाही पहले 15 मिनट तथा उसके बाद दोपहर दो बजे तक स्थगित कर दी गयी।

शून्यकाल के दौरान स्थगन के बाद कार्यवाही शुरू होने पर उप सभापति हरिवंश ने सदन को सूचित करते हुये कहा कि श्री सिंह ने कल सभापति के आसान की ओर कागज फाड़कर फेकें थे। इसके साथ ही उन्होंने सदन की कार्यवाही बाधित करने के लिए नारेबाजी की ओर हंगामा किया। उप सभापति ने कहा कि श्री सिंह का यह आचरण सदन के मान्य नियमों के अनूकूल नहीं पाया गया है। इसलिए उनके विरूद्ध नियम 256 के तहत कार्रवाई की जायेगी। इसके बाद संसदीय कार्य राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने श्री सिंह को सदन की इस सप्ताह की शेष कार्यावधि के लिए निलंबित किये जाने का प्रस्ताव किया जिसे सदन ने ध्वनिमत से पारित कर दिया।

इसके बाद श्री हरिवंश ने श्री सिंह को सदन से चले जाने और कार्यवाही सुचारू तरीके से चलने देने की अपील की और सदन की कार्यवाही 12.03 बजे 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी। इसके बाद कार्यवाही शुरू होने पर उप सभापति ने फिर से श्री सिंह से सदन से जाने की अपील की। इस श्री सिंह ने कुछ कहने की कोशिश की लेकिन श्री हरिवंश ने कहा कि उनकी कोई भी बात रिकाॅर्ड पर नहीं जा रही है। इसके साथ ही उन्होंने सदन की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक स्थगित कर दी।

उल्लेखनीय है कि कल सदन की कार्यवाही में बाधा उत्पन्न करने के कारण 19 सदस्यों को सदन की इस सप्ताह की शेष अवधि के लिए निलंबित कर दिया गया था उनमें तृणमूल कांग्रेस की सुष्मिता देव, श्रीमती मौसम नूर, श्रीमती शांता क्षेत्री, श्रीमती डोला सेन, शांतनु सेन, अबीर रंजन विश्वास, मौहम्मद नदीमुल हक, द्रमुक के एम एच अब्दुल्ला, एस कल्याण सुंदरम, आर गिरिरंजन , एन आर एलेनगोवान, एम षणमुगम, कनिमझी एन वी एन शोमु, टीआरएस के बी एल यादव, रविंद्रवदी राजू, दामोदरराव दिवाकोंडा, माकपा के वी शिवदासन, भाकपा के संतोष कुमार पी और ए ए रहीम शामिल हैं। इस तरह से अब तक इस सप्ताह सबसे अधिक 20 सदस्य निलंबित किये जा चुके हैं।

Back to top button