इंदौर में फर्जी पुलिस अधिकारी बन ठगी करने वाले आरोपी ने किया चौंकाने वाला खुलासा

मध्य प्रदेश के इंदौर (Indore) में दो दिन पहले नकली अंडरकवर पुलिस अधिकारी बनकर महिला से सगाई कर लाखों की ठगी करने वाले युवक को विजयनगर पुलिस (Vijaynagar Police) ने गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले आरोपी से अभी भी पूछताछ चल रही थी। इस बीच इस पूरी ठगी की कहानी में नया मोड़ आ गया है। पूछताछ के दौरान आरोपी ने हैरान करने वाले खुलासा किया है। आरोपी के मुताबिक इस केस में एक महिला तांत्रिक भी भागीदार है। आरोपी राजवीर ठगी के पैसे एक तांत्रिक महिला को लाकर देता था।

फर्जी पुलिसवाले केस में नया खुलासा

पुलिस के अनुसार आरोपी राजवीर इंदौर में नकली पुलिसवाला (Fake Policeman) बनकर कई लगों को ठगी का शिकार बना चुका है। पुलिस ने राजवीर से घंटों पूछताछ की। इस केस में नया नाम एक महिला तांत्रिक छोटू महाराज का भी जुड़ गया है। राजवीर और तांत्रिक (Tantrik) दोनों मिलकर लोगों से ठगी करते थे और राजवीर ठगी का सारा पैसा लाकर महिला तांत्रिक को दे देता था। बताया जा रहा है कि राजवीर महिला तांत्रिक को पैसे इसलिए देता था क्योंकि तांत्रिक ने उसे अपने तंत्र-मंत्र से नोटों की बारिश करने का लालच दे रखा था। 

तांत्रिक ठगी के लिए अपने ग्राहक देती थी

पुलिस ने महिला तांत्रिक को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि महिला तांत्रिक भी अपने झूठे तंत्र मत्र के बहाने से कई लोगों को ठग चुकी है। तांत्रिक के पास कई ऊंचे अमीर घरों की औरते तंत्र मंत्र करवाने आती थी। बाद में तांत्रिक राजवीर को उन अमीर औरतों से मिलवाती थी। मीटिंग की दौरान भी राजवीर खुद को पुलिसवाला ही बताता था। इसके बाद दोनों मिलकर लोगों को ठगने का प्लान बनाते थे। उनकी समस्याओं के अलग अलग उपाय बताकर लाखों रुपए ठगते थे।

आरोपी ने कहा मुझे पुलिस में भर्ती करलो

एसपी आशुतोष बागरी ने बताया कि राजवीर से कई घंटे पूछताछ की गई जिसमे उसने कई हैरान कर देने वाले खुलासे किए है। उसने बताया कि वह इंदौर शहर के विजयनगर, लसुडिया और हीरानगर में लोगों से ठगी करता था। उसने लोगों के बीच अपनी एक प्रभावी छवि कायम कर रखी थी। लोगों की शिकायतों को वह सीएम हेल्पलाइन पर दर्ज करवाकर समाधान होने पर बताता था कि मैंने प्रॉब्लम सॉल्व कर दी है। ऐसा करके वह लोगों की नजरों में महान बन जाता था। राजवीर ने थाने में पुलिस से यह तक कह डाला कि मुझे पुलिस में भर्ती कर लीजिए। कई खबरें लाकर दूंगा। 

राजवीर ने अपना जाल कई थाना क्षेत्रों में इस प्रकार से फैला दिया था कि कई लोग उसे फोन कर गांजा तस्करी और जुआ-सट्टा खेलने वालों के नाम-पते देते थे। कई लोग उसे रेड डालने को बोलते थे। तब राजवीर वहां नहीं जाता था। कहता था कि वह अभी दूसरे थाने पर है। 100 नंबर पर फोन कर शिकायत दर्ज करा दो। मैं दूसरे अधिकारी को कह देता हूं।

ऐसे बनता था ठगी का शिकार

आरोपी नकली पुलिसवाला बनकर शहर के कई इलाकों में घूमता था। बहुत से लोग उसके जाल में फंस जाते थे। असली पुलिसवाला समझ कर लोग राजवीर को फोन पर अपनी समस्या बताते थे। बाद में राजवीर उन लोगों की समस्याओं को अपने ही मोबाइल नंबर से 181 पर फोन कर सीएम हेल्पलाइन पर दर्ज करवा देता था। शिकायत दर्ज होने के बाद फरयादी को को थाने बुलाया जाता और आगे की कार्यवाही की जाती थी। समस्या का समाधान हो जाता था जिससे पीड़ित को लगता था कि राजवीर ने ही समस्या का समाधान करवाया है। पुलिस को राजवीर के मोबाइल से सीएम हेल्पलाइन से आए कई एसएमएस भी मिले है। 

जीप शोरूम मालकिन से की लाखों की ठगी

राजवीर ने बताया कि तांत्रिक और उसने मिलकर एक जीप शोरूम की मालकिन से ऊपरी हवा के नाम पर लाखों रुपए की ठगी की। शोरूम के कुछ कर्मचारी छोटू महाराज के पास तंत्र मंत्र करवाने आया करते थे। तांत्रिक ने उन कर्मचारियों की मुलाकात राजवीर से पुलिसवाला बताकर करवाई। कुछ दिनों बाद वो कर्मचारी राजवीर को शोरूम ले गए। जहां उसने भूत-प्रेत की कहानी रची और मालकिन से कहा कि उसके ऊपर किसी ऊपरी हवा का साया है। जिसे छोटू महाराज ही दूर कर सकते है। इसके बाद उपाय के नाम पर दोनों ने मालकिन से लाखों रुपए लुटे।

ठगी के रुपए तांत्रिक को देता था

विजयनगर थाना प्रभारी तहजीब काजी ने बताया कि सोमवार देर रात आरोपी से पूछा गया कि वह ठगी के इतने रुपए का क्या करता है। तब आरोपी ने अपने जवाब में कहा कि वह ठगे हुए सारे रुपए महिला तांत्रिक छोटू महाराज को देता था। तांत्रिक ने कहा था कि वह नोटों की बारिश करवा देगी। जिसके लिए कई तंत्र मंत्र क्रियाओं का सामान मंगवाया जाता था। राजवीर ने बताया कि कुछ दिन पहले वह लोग इंदौर के नजदीक माचल श्मशान घाट गए थे। तांत्रिक के साथ अन्य दो साथी भी थे। माचल श्मशान घाट पर नोटों की बारिश करने की बात हुई थी। लेकिन नोटों की बारिश नहीं हुई। तांत्रिक ने किसी आत्मा को दिखाकर सबको वहां से लौटा दिया। 

मंगेतर ने करवाया था गिफ्तार

मध्य प्रदेश के इंदौर से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया था । यहां एक राजवीर सोलंकी नाम के युवक ने अंडरकवर पुलिस अधिकारी बनकर लड़की से सगाई कर डाली। इसके बाद उससे आठ लाख रुपये और एक स्कूटी भी शादी के लिए ले ली। लड़की के सामने वह खुद को एक सब इंस्पेक्टर के रूप में पेश करता था। इस बीच युवती के मन में कई बातों को लेकर शंक पैदा हुआ। इसके बाद लड़की ने युवक के बारे में पड़ताल शुरू कर दी। युवती की पड़ताल में वह नकली पुलिस अधिकारी निकला। पूरा सच सामने आने के बाद युवती, युवक का कॉलर पकड़कर थाने पहुंच गई।

Back to top button
E-Paper