इन लोगों की किस्मत में 2 शादियों का योग, अभी चेक कर लें अपने पार्टनर का नाम

हिंदूधर्म में देखा जाए तो प्राचीन काल से ही ये परंपरा चलती आ रही है कि घर में तुलसी का पौधा होना बेहद जरूरी माना जाता है क्‍योंकि हमारे शास्त्रों में तुलसी को पूजनीय, पवित्र और देवी स्वरूप माना गया है, कहा जाता है इने घर में होने से सारी विपदा खत्‍म हो जाती है। हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का विशेष महत्व है लगभग हर पूजा में इसके पत्तों का प्रयोग किया जाता है। तुलसी मां लक्ष्मी का प्रिय पौधा है।

अगर घर में तुलसी का पौधा हो तो कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। यदि ये बातें ध्यान रखी जाती हैं तो सभी देवी-देवताओं की हम पर विशेष रूप से कृपा बनी रहती है और साथ ही घर में सकारात्मक और सुखद वातावरण बना रहता है, पैसों की कमी नहीं आती है और परिवार के सदस्यों को स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होता है। यही कारण है कि भारतीय संस्कृति में तुलसी को पूजनीय माना जाता है, धार्मिक महत्व होने के साथ-साथ तुलसी औषधीय गुणों से भी भरपूर है। आयुर्वेद में तो तुलसी को उसके औषधीय गुणों के कारण विशेष महत्व दिया गया है। तुलसी ऐसी औषधि है जो ज्यादातर बीमारियों में काम आती है।

बता दें कि इस पौधे से जुड़ी कुछ ऐसी मान्‍यताएं भी हैं जो शायद आप लोग नहीं ही जानते होंगे और अगर इन बातों को ध्‍यान न दिया जाए तो ये आपके लिए अशुभ भी साबित हो सकता है। यदि घर में लगा हुआ तुलसी का पौधा सूख जाता है या काला हो जाता है तो आपके साथ बहुत कुछ हो सकता।

आइए जानते हैं कुछ ऐसी ही महत्‍वपूर्ण बातें जो शायद ही आप आज से पहले जानते होंगे

शास्‍त्रों में बताया गया है कि अगर तुलसी का पौधा ज्‍यादा ध्‍यान न देने पर भी फलने फुलने लगे तो आपको समझ जाना चाहिए कि ये आपकी किस्‍मत खुलने का संकेत दे रहा है। अगर तुलसी के पौधे से छोटे छोटे तुलसी के पौधे खिलने लगे तो ये दर्शाता है कि आप ये मानकर चले की आपके तरक्‍की के सारे द्वार खुलने लगे हैं लेकिन इसके विपरीत काफी ध्‍यान देने के बावजूद भी अगर तुलसी का पौधा मुर्झाने लगे तो समझ जाएं कि आपका दुर्भाग्‍य शुरू हो रहा है।

वहीं अक्‍सर ये भी सुनने में आता है की यदि तुलसी का पौधा काला पड़ जाए तो समझ लिजिए की आपके घर के मुखिया के उपर मुसीबत का साया मंडरा रहा है। साथ ही आपको बता दें कि अगर तुलसी का पौधा अचानक सुख जाए तो समझ लिजिए की किसी की बुरी नजर लग चुकी है इसलिए हमेशा इन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

Back to top button
E-Paper