उत्तराखंड में दर्दनाक हादसा : भारत चीन सीमा के पास ग्लेशियर टूटा, 8 लोगों की मौत

नई दिल्ली: 

उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच एक और मुसीबत सामने आ खड़ी हो गई है. भारत चीन सीमा के पास राज्य की नीती घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना मिली है. उत्तराखंड में चमोली जिले की नीति घाटी की सीमा से सटे इलाके में शुक्रवार को हिमस्खलन हुआ है. इस प्राकृतिक आपदा से 384 लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है जिनमें से 6 की हालत गंभीर बनी हुई है, वहीं अब तक 8 लोगों का शव भी बरामद हुआ है. फिलहाल राहत और बचाव कार्य जारी है. सीमा सडक संगठन के एक अधिकारी ने बताया कि चमोली जिले की नीति घाटी में मलारी के समीप सुमना चौकी से आगे ग्लेशियर के गिरने की सूचना मिली है. हालांकि, बर्फबारी के कारण उस इलाके में संपर्क नहीं हो पा रहा है. उन्होंने बताया था कि इन दिनों सीमा सड़क संगठन की ओर से सड़क निर्माण के लिए वहां मजदूर कार्य कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने इस बारे में जानकारी साझा करते अलर्ट जारी किया है. उन्होंने बताया कि वह लगातार  जिला प्रशासन और बीआरओ के सम्पर्क में हैं. सीएम रावत के अनुसार जिला प्रशासन को मामले की पूरी जानकारी प्राप्त करने के निर्देश दे दिए हैं. साथ ही एनटीपीसी और अन्य परियोजनाओं में रात के समय काम रोकने के आदेश दे दिए हैं ताकि कोई अप्रिय घटना ना होने पाये. मुख्यमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना को लेकर गृह मंत्री अमित शाह से भी बात हो चुकी है उन्होंने मदद का आश्वासन दिया है.

वहीं राज्य के डीजीपी अशोक कुमार ने ग्लेशियर टूटने की जानकारी साझा करते हुए बताया कि फिलहाल इस घटना में कोई जनहानि तो नहीं हुई है. खराब मौसम के कारण अभी सही स्थिति की जानकारी नही हो पा रही है. टीमों को स्थिति का जायज़ा लेने के लिए रवाना कर दिया गया है. जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि वह मामले पर करीबी नजर बनाए हुए हैं. सिंह ने ट्वीट किया, ‘ मैं परिस्थिति पर करीबी नजर बनाए हुए हूं. हमारे अधिकारी सतर्क हैं और सचिव स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में एक दल हालात पर निगरानी रख रहा है.’.

Back to top button
E-Paper