कतर की जेल में सजा काट रहा है मुंबई का कपल, जेल में हुई बेटी, भारत लाने की कोशिश में है NCB

मुंबई
मुंबई के एक कपल ने कभी सपने में नहीं सोचा होगा कि हनीमून पर जाना उनके लिए बुरे सपने के जैसा होगा। खाड़ी के देश कतर पहुंचते ही उन्हें ड्रग्स स्मगलिंग के लिए गिरफ्तार कर लिया गया और वे एक साल से जेल में हैं। कपल को हनीमून ऑफर करने वाली एक रिश्तेदार ने ही उनके सामान में चार किलो नशीला पदार्थ रख दिया था।

नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) मुंबई के इस निर्दोष दंपति शरीक और ओनिबा को बचाने और उसे कतर से भारत लाने की कोशिश में लगा हुआ है। यह दंपति हनीमून पर दोहा गया था। आरोप है कि महिला की एक रिश्तेदार ने उनके बैग में ड्रग्स रख दिया। एनसीबी के जोनल डायरेक्टर केपीएस मल्होत्रा का कहना है कि 6 जुलाई 2019 को शरीक और ओनिबा को दोहा के हमाद अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया गया।

जेल में ही बच्ची का हुआ जन्म
दूर देश की पुलिस ने उनके पास से 4.1 किलो हशीश जब्त किया। वहां दोनों पर मुकदमा चला और उन्हें दस साल की सज़ा सुना दी गई। वहां जेल में ही उनकी बेटी का जन्म हुआा। ओनिबा के पिता को इस बात का विश्वास था कि उनकी बेटी और दामाद पूरी तरह निर्दोष हैं। इसलिए पिता शकील अहमद कुरैशी ने NCB के बड़े अधिकारियों से पिछले साल 27 सितंबर को मुलाकात की और पूरी बात बताई। पिता ने कहा कि जो ड्रग्स कतर में जब्त की गई, उसके पीछे ओनिबा/ शरीक की चाची तबस्सुम रियाज़ कुरैशी और उसके साथी निज़ाम कारा का दिमाग है। पिता ने दंपति के निर्दोष होने के संबंध में NCB अधिकारियों को कुछ दस्तावेज दिए। साथ ही एक ऑडियो क्लिप भी दी।

भारत लाने की कोशिश में NCB

इसके बाद एनसीबी ने तबस्सुम और निज़ाम के खिलाफ ट्रैप लगाया। 22 दिसंबर 2019 को दोनों को नागपाड़ा से गिरफ्तार किया। दोनों के पास 13 ग्राम कोकीन जब्त की गई। उसी दौरान 26 फरवरी 2020 को एनसीबी ने चंडीगढ़ में भी चार लोग पकड़े। सभी के पास से डेढ़ किलो चरस मिला। इन सभी आरोपियों ने भी कबूल किया कि वे सब निजाम कारा के सिंडिकेट से जुड़े हुए हैं। जब यह सब साबित हो गया कि निजाम कारा के कहने पर तबस्सुम ने धोखे से अपनी रिश्तेदार ओनिबा के बैग में ड्रग्स रखी, तो एनसीबी ने निर्दोष ओनिबा और उसके पति शरीक को भारत वापस लाने की कोशिशें तेज कर दी हैं।

Back to top button
E-Paper