केएल राहुल का ऑस्ट्रेलिया दौरे की टेस्ट टीम में चयन होने से नाखुश है ये दिग्गज, कहा कुछ ऐसा…..

केएल राहुल को ऑस्ट्रेलिया टेस्ट के लिए चुने जाने के बाद पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर नाखुश हैं. सोमवार, 26 अक्टूबर को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने आगामी अंतर्राष्ट्रीय दौरे के लिए T20I, टेस्ट और ODI टीम का ऐलान किया.  इस दौरे की शुरुआत नवंबर के अंतिम सप्ताह में शुरू होने की संभावना है. जहां तक ​​राहुल की बात है, तो वह हाल के दिनों में शानदार फॉर्म में हैं.

2020 इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) की कप्तानी करते हुए, युवा ऑरेंज कैप होल्डर हैं. राहुल आईपीएल इतिहास में बतौर कप्तान सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर बनाने वाले खिलाड़ी हैं. उन्होंने अपनी पूर्व टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के खिलाफ यह उपलब्धि हासिल की जब उन्होंने दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में नाबाद 132 रन बनाए.

राहुल अपनी आईपीएल फॉर्म के आधार पर टेस्ट के लिए चुने गए हैं. राहुल ने आखिरी बार वेस्टइंडीज के खिलाफ अगस्त 2019 में जमैका के किंग्स्टन में टेस्ट खेला था.  36 मैचों में केवल 34.58 का औसत के रन बनाने वाले राहुल का टेस्ट करियर खास नहीं रहा हैं. 2014 में डेब्यू के बाद से राहुल के नाम पांच शतक और 11 अर्धशतक हैं.

मांजरेकर ने कहा कि राहुल पहले रणजी ट्राफी  में अच्छा करके वाले खिलाड़ियों को पहले मौका मिलना चाहिए था. इस दिग्गज ने अपनी पिछली पांच टेस्ट श्रृंखलाओं में राहुल के आंकड़ों पर भी एक ट्वीट किया.

संजय मांजरेकर ने ट्वीट द्वारा कहा, “जब आप आईपीएल के प्रदर्शन को देखकर एक खिलाड़ी को टेस्ट टीम में चुनते है तो इससे आप एक गलत मिसाल पेश करते हैं. वो भी तब जब उस खिलाड़ी ने पिछले कुछ टेस्ट में बेहद खराब प्रदर्शन किया हो. चाहे वह खिलाड़ी सफल हो या असफल, लेकिन यह अप्रासंगिक है, तो ऐसे चयन से रणजी खिलाड़ियों को मनोबल को बड़ी चोट पहुंचती है.”

“केएल राहुल अपनी आखिरी 5 टेस्ट सीरीज़ में – v SA – औसत 7.1 – v Eng – औसत 29 – v WI ​​घर पर – औसत 18 – v Aus – औसत 10.7 – v WI ​​- औसत 25.4 की औसत रही हैं. मैं कहता हूँ वह बहुत भाग्यशाली है कि आईपीएल और सफेद गेंद के प्रदर्शन पर उन्हें टीम में चुना गया हैं. हालाँकि अब बस उम्मीद है कि वह इस अवसर का अधिकतम लाभ उठाएं. उसे शुभकामनाएँ.”

Back to top button
E-Paper