कैम्ब्रिज ट्रैकर का दावा : भारत में आया कोरोना की दूसरी लहर का पीक, कुछ राज्यों में केस बढ़ने की आशंका

कैम्ब्रिज जज बिजनेस स्कूल एंड द नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इकोनॉमिक एंड सोशल रिसर्च के मुताबिक, भारत में कोरोना की दूसरी लहर का पीक यानी चरम आ चुका है। इस संस्थान ने एक नए ट्रैकर डेटा से मिले रिसर्च के आधार पर यह जानकारी दी है।

ब्लूमबर्ग के मुताबिक, इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में कोरोना केस का नया पीक आ चुका है। हालांकि, कुछ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के आंकड़ों में फर्क देखा जा रहा है। अगले दो हफ्तों में कुछ राज्यों जैसे असम, हिमाचल प्रदेश, तमिलनाडु और त्रिपुरा में मामले बढ़ सकते हैं। भारत में सबसे ज्यादा मामले 7 मई को दर्ज किए गए थे। तब 4 लाख 14 हजार 188 केस सामने आए थे।

महाराष्ट्र में 15 दिन लॉकडाउन बढ़ाने का प्रस्ताव
महाराष्ट्र में लॉकडाउन आगे बढ़ाने पर बुधवार को कैबिनेट मीटिंग हुई। इसमें स्वास्थ्य विभाग और मंत्रियों ने 15 दिन लॉकडाउन बढ़ाने का प्रस्ताव रखा। बैठक के बाद स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि इस पर आखिरी फैसला मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लेंगे।

उन्होंने बताया कि राज्य में टीके की कमी के कारण 18-44 उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन अभी रोक दिया गया है। इस ऐज ग्रुप के लिए राज्य सरकार की ओर से खरीदी गए सभी डोज अब 45+ उम्र के लोगों को दी जाएंगी।

दूसरा डोज देने में हो रही देरी
राजेश टोपे ने कहा कि 45 साल से ज्यादा उम्र वालों को दूसरा डोज देने में देरी हो रही है। वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रही है। अगर दूसरा डोज समय पर नहीं दिया जाएगा तो पहले का कोई फायदा नहीं रहेगा। इसीलिए हमने फैसला लिया है कि जो टीके केंद्र सरकार ने 18 से 44 साल एज ग्रुप के लोगों के लिए दिए थे, वे 45+ के लोगों को लगाएंगे।

उन्होंने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट के CEO अदार पूनावाला ने राज्य सरकार को डेढ़ करोड़ वैक्सीन का भरोसा दिया है। इसके बाद हम 18+ वालों का वैक्सीनेशन शुरू कर सकते हैं। यह वैक्सीन 20 मई के बाद से हमें मिलने लगेगी। इसके अलावा हम लोग ग्लोबल टेंडर का भी प्रयास कर रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ संक्रमित हुए
सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ बुधवार को कोरोना पॉजिटिव हो गए। उनके स्टाफ का एक कर्मचारी पहले संक्रमित मिला था। जस्टिस चंद्रचूड़ लगातार कई अहम मामलों की सुनवाई कर रहे हैं। इनमें चुनाव, कुंभ और ऑक्सीजन सप्लाई जैसे मामले शामिल हैं। उन्होंने इन मामलों में सोमवार को ही सुनवाई की थी।

इससे पहले शनिवार को जस्टिस चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली बेंच ने ही दवाइयों और ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर एक टास्क फोर्स बनाई थी। बार एंड बेंच वेबसाइट के मुताबिक, उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कोरोना से जुड़े मामले पर गुरुवार को होने वाली सुनवाई टल गई है। इससे पहले अप्रैल में भी सुप्रीम कोर्ट के चार जज कोरोना संक्रमित हो गए थे।

एक दिन में रिकॉर्ड 19.83 लाख टेस्ट हुए
देश में कोरोना की दूसरी लहर के खिलाफ लड़ाई तेज हो गई है। इसके मद्देनजर बीते दिन देश में कोरोना के रिकॉर्ड 19 लाख 83 हजार 804 टेस्ट किए गए। यह एक दिन में किए गए टेस्ट का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले 30 अप्रैल को 19.45 लाख टेस्ट किए गए थे। बड़ी बात यह भी रही कि रिकॉर्ड टेस्ट के बावजूद नए संक्रमितों में बड़ी बढ़ोतरी नहीं हुई। मंगलवार को 3.48 लाख लोगों में ही कोरोना की पुष्टि हुई। यानी पॉजिटिविटी रेट 17.6% रहा। यह आंकड़ा दो दिन पहले 24.9% था।

बीते दिन राहत की बात यह भी रही कि लगातार दूसरे दिन नए संक्रमितों से ज्यादा मरीज ठीक हुए। पिछले 24 घंटे में 3 लाख 55 हजार 256 लोग ठीक हुए। इससे पहले सोमवार को 3 लाख 29 हजार 491 केस आए थे और 3 लाख 55 हजार 930 मरीज ठीक हुए थे।

मौत के आंकड़ों ने बढ़ाई चिंता
मौत का आंकड़ा भी चिंता बढ़ाने वाला है। बीते 24 घंटे में 4,198 लोगों ने दम तोड़ा है। यह आंकड़ा तीसरी बार 4 हजार के पार हुआ है। इससे पहले 7 मई को 4,233 और 8 मई को 4,092 लोगों ने इस महामारी से जान गंवाई थी। बीते दो दिन में एक्टिव केस भी करीब 42 हजार घट गए हैं। 9 मई को सबसे ज्यादा 37.41 लाख मरीजों का इलाज चल रहा था। अब यह आंकड़ा घटकर 36.99 लाख रह गया है।

देश में कोरोना महामारी आंकड़ों में

  • बीते 24 घंटे में कुल नए केस आए: 3.48 लाख
  • बीते 24 घंटे में कुल मौतें: 4,198
  • बीते 24 घंटे में कुल ठीक हुए: 3.55 लाख
  • अब तक कुल संक्रमित हो चुके: 2.33 करोड़
  • अब तक ठीक हुए: 1.93 करोड़
  • अब तक कुल मौतें: 2.54 लाख
  • अभी इलाज करा रहे मरीजों की कुल संख्या: 36.99 लाख

18 राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां
देश के 18 राज्यों में पूर्ण लॉकडाउन जैसी पाबंदियां हैं। इनमें हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, मिजोरम, गोवा, तेलंगाना और पुडुचेरी शामिल हैं। यहां पिछले लॉकडाउन जैसे ही कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं।

14 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में आंशिक लॉकडाउन
देश के 14 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आंशिक लॉकडाउन है। यानी यहां पाबंदियां तो हैं, लेकिन छूट भी है। इनमें पंजाब, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, मेघालय, नगालैंड, असम, मणिपुर, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और गुजरात शामिल हैं।

Back to top button
E-Paper