कोरोना संकट के बीच कल से हो रहा है कुंभ का आगाज, जानिए किन लोगों को नहीं मिलेंगी एंट्री…

कल यानी 1 अप्रैल से देशभर में कुंभ मेले का माहौल बनने वाला है. जिसके लिए सारी तैयारियां भी पूरी कर ली गई हैं. मान्यता के अनुसार अगर कोई इंसान कुंभ में स्नान करता है तो उसके सारे पाप धूल जाते हैं. जिसके कारण लाखों की संख्या में श्रद्धालु कुंभ मेले में स्नान करने आते हैं. इस बीच देश में कोरोना वायरस का संक्रमण भी तेजी से फैलने लगा है. महाकुंभ में स्नान करने के लिए देश के कोने-कोने के अलावा विदेशों से भी श्रद्धालु मेला देखने आते हैं. लेकिन इस बीच कोरोना के बढ़ते मामलों से स्थिति खराब होती जा रही है. 

जिसकी वजह से सरकार ने लोगों को सावधानी बरतने की सख्त हिदायत दी है. बीते एक साल में कोरोना ने दुनियाभर में करोड़ों लोगों को अपना शिकार बनाया, वहीं लाखों लोगों को कोरोना के कारण अपनी जान से हाथ धोना पड़ा. जिसके बाद देश में एक बार स्थिति फिर से डराने वाली बन गई है. जिसके कारण अब मेले को लेकर शासन प्रशासन की सख्त नजर कुंभ मेले पर हैं.   

बता दें कि कुंभ में प्रवेश के लिए अब सावधानी बरती जा रही है. बताया जा रहा है कि 31 मार्च की रात से बिना कोविड निगेटिव रिपोर्ट के कुंभ क्षेत्र में प्रवेश वर्जित कर दिया गया है. साथ ही, एंट्री के पहले अब हर श्रद्धालुओं को पहले से ही रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी होगा. 

जारी गाइडलाइंस के मुताबिक, कुंभ में 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को प्रवेश नहीं मिलेगा. साथ ही, आज रात से राज्य के सभी बॉर्डर पर रैंडम चेकिंग होगी. रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बॉर्डर चेक पोस्ट पर भी चेकिंग होने वाली है.

इसके साथ ही प्रदेश सरकार ने कुंभ मेला अवधि 1 अप्रैल से 30 अप्रैल तय की है. 31 मार्च की रात 12.00 बजे से मेले में प्रवेश के लिए श्रद्धालुओं को सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस का पालन करना होगा. गाइडलाइन के मुताबिक लोगों को मेला क्षेत्र में मास्क लगाकर रखना होगा. साथ ही, सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करना बोगा. समय-समय पर सैनिटाइजर का प्रयोग करना होगा.जरुर पढ़ें:  हरिद्वार में इन संतों के दर्शनों के लिए उमड़ी भीड़, जानिए क्या हैं खास…

गाइडलाइंस

1. 72 घंटे के अंदर की कोरोना रिपोर्ट लाना जरूरी होगा.

2. पहले से कराए गए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का SMS दिखाना होगा.

3. हेल्थ टेस्ट रिपोर्ट साथ होनी चाहिए.

4. 60 साल से ज्यादा उम्र के लोग और बीमारों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

5. कुंभ में आने वाले श्रद्धालु एक्टिव कंटेन्मेंट जोन से न आते हों.

Back to top button
E-Paper