कोरोना से भयभीत ग्रामीणों ने सीमा पर की नाकेबंदी, कहा- पहले नाम पता लिखाओ, तब मिलेगा गांव में एंट्री

-गांव आने जाने वालों को रोककर ग्रामीण सैनिटाइजर से धुलवाते है हाथ

हमीरपुर । जिले के राठ तहसील क्षेत्र के मझगवां गांव में कोरोना वायरस से बचाव के लिये ग्रामीण अब एकजुट हो गये हैं। गांव के बाहर बैनर टांगकर आने जाने वालों पर गांव के लोग सामूहिक रूप से नजर रखते है। गांव में प्रवेश करने से पहले उनका नाम और पता रजिस्टर में लिखवाया जाता है। इस गांव के लोग कोरोना वायरस महामारी से जंग लडऩे के लिये जो रास्ता चुना है वह पूरे क्षेत्र के लिये मिसाल कायम कर रहा है।

राठ क्षेत्र के गांवों में कोरोना को लेकर लोग दहशत में है। इन दिनों बाहरी राज्यों से हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर लौट रहे हैंं। कोरोना के संक्रमण के भय से राठ क्षेत्र के मझगवां गांव के लोग अब एकजुट हो गये है। जैसे ही बाहरी प्रांतों से लोग गांव में आते है ग्रामीण घबरा जाते है। इससे निपटने के लिए क्षेत्र के मझगवां में युवाओं ने बीड़ा उठाया है।

गांव के जीतेंद्र सिंह परिहार उर्फ जीतू, संजू मास्टर, राजा सिंह राजावत, नरेंद्र सिंह परिहार, राजेश गौतम, ज्ञानेंद्र सिंह, अजीत सिंह सहित अन्य ने बुधवार को गांव की सीमा पर अवरोध बनाकर जागरूकता से संबंधित बैनर टांग दिया है। एक रजिस्टर में हर आने जाने वाले का नाम पता नोट किया जाता है। गांव में किसी भी काम से आने वाले को सैनिटाइजर से हाथ साफ कराने के बाद ही गांव में घुसने दिया जा रहा है। बताया कि ग्रामीण युवक बारी बारी से इस बैरियर पर ड्यूटी कर रहे हैं।

Back to top button
E-Paper