क्रय केंद्र तक आने वाले हर किसान का धान खरीदा जाये : डीएम


गोरखपुर। डीएम विजय किरन आनंद ने जिले में धान खरीद की तैयारियों को समय से पूरा कर लेने का निर्देश दिया है। धान खरीद के लिए बनाए जा रहे 131 केंद्रों में से 127 को अनुमोदन मिल चुका है।सभी केंद्रों पर किसानों की सुविधा के लिए इंतजाम करने को कहा गया।जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि किसानों से धान खरीदने के बाद निर्धारित समय से भुगतान कर दिया जाए। कोआपरेटिव केंद्रों पर भी भुगतान की स्थिति में सुधार करने के लिए सभी संस्थाओं के एमडी को जिलाधिकारी की ओर से पत्र लिखा जाएगा।समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने अब तक हुए पंजीकरण के बारे में जानकारी ली। डिप्टी आरएमओ की ओर से बताया गया कि अभी तक 6300 किसानों का पंजीकरण किया जा चुका है। पंजीकरण के लिए हर ब्लाक में शिविर लगाए जा रहे हैं।


उन्होंने कहा कि सभी धान क्रय केंद्रों पर किसानों की सुविधा के लिए इंतजाम किए जा रहे हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि किसानों के पंजीकरण के लिए कोटेदारों को भी लगाया गया है। जनसेवा केंद्र के संचालकों को भी इस संबंध में निर्देश दिए गए हैं।कोटेदार अपने गांवों में धान बेचने के इच्‍छुक किसानों से बात कर उनका पंजीकरण कराएंगे। जनसेवा केंद्र संचालक कोटेदारों की ओर से चिह्नित किसानों का प्राथमिकता के आधार पर पंजीकरण करेंगे। जिलाधिकारी ने इस कार्य की नियमित निगरानी का निर्देश दिया है। बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेश कुमार  सिंह, डिप्टी आरएमओ राकेश मोहन पांडेय आदि उपस्थित रहे।पहले छोटे किसानों की सुविधा के लिए सप्ताह में चार दिन उनसे धान खरीदने का निर्देश दिया गया था। इस निर्देश के मुताबिक एक सोमवार से शुक्रवार तक एक किसान अधिकतम 50 कुंतल धान बेच सकता था लेकिन शासन की ओर से इस नियम में बदलाव करते हुए 50 कुंतल की बाध्यता समाप्त कर दी है। जो भी किसान क्रय केंद्र तक आएगा, उससे खरीद की जाएगी।

Back to top button
E-Paper