गंभीर परिस्थिति….बोट में मस्ती, बाढ़ के हालात में ये कैसी तस्वीरें

भिंड की लहार तहसील के SDM, SDOP, जनपद CEO और एक अन्य अफसर को बोट में मौज-मस्ती करते देखा गया.

भिंड। सिंध नदी के सैलाब में कई गांव बह गए. लोग अपनी जान बचाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों से मदद मांग रहे हैं. लेकिन अधिकारियों के लिए सेल्फी सेशन ज्यादा जरूरी है. दरअसल, भिंड की लहार तहसील के SDM, SDOP, जनपद CEO और एक अन्य अफसर को बोट में मौज-मस्ती करते देखा जा रहा है. मौज-मस्ती का वीडियो भी सामने आया है. जिसके बाद इन अधिकारियों पर कई गंभीर आरोप लगाए जा रहे हैं.

गंभीर परिस्थिति, बोट में मस्ती

जिले में सबसे ज्यादा खराब हालात लहार और मेहगांव अनुभाग के हैं. इस बीच लहार के गिरवासा गांव के पास रेस्क्यू ऑपरेशन के बीच लहार एसडीएम आर.ए प्रजापति, पुलिस विभाग के जिम्मेदार एसडीओपी अवनीश बंसल, जनपद पंचायत सीईओ आलोक प्रताप इटोरिया एक अन्य अफसर के साथ बोट में मौज-मस्ती का वीडियो बनाते दिखे.

इस वीडियो में बोट रवाना करने से पहले SDM साहब हाथ हिलते नज़र आए. जिस पर जनपद सीईओ द्वारा कमेंट किया गया कि ‘देखो मोदी जी जैसे हाथ हिला रहे हैं.’ इस वीडियो में एसडीओपी अवनीश बंसल यह कहते भी नज़र आए की ‘तब तक हम आगे तक घूम कर आते हैं तुम वीडियोग्राफी करो.’ 

बाढ़ के हालात में ये कैसी तस्वीरें

लगातार बारिश से सिंध नदी का जलस्तर बढ़ गया है. मडिखेरा डैम से पानी भी छोड़ा जा रहा है. जिस वजह से जिले के कई गांव बाढ़ प्रभावित हैं. हालात संभालने के लिए मौके पर NDRF और सेना की टुकड़ियां बुलाई गईं, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में देर रात तक और फिर सुबह से जिले के कलेक्टर, एसपी दौरे और रेस्क्यू में जुटे हैं, लेकिन लहार अनुभाग के जिम्मेदार अधिकारी इन परिस्थिति में मजे उड़ाते नजर आए.

इस तरह की तस्वीरें सामने आने के बाद इन अफसरों के काम के प्रति सजगता साफ दिखाई दे रही है, जो इन हालातों में भी लोगों को बचाने की बजाय जिला प्रशासन के प्रयासों पर बट्टा लगाने में लगे हैं. ईटीवी भारत ने इन अधिकारियों से बातचीत करने की भी कोशिश की थी, लेकिन किसी भी अधिकारी से संपर्क न हो सका.

Back to top button
E-Paper