गाजियाबाद: पिता ने दो बेटियों और धेवतियों को कमरे में बंद कर लगा दी आग, फिर खुद पुलिस को किया फोन

गाजियाबाद. दिल्ली से सटे गाजियाबाद में रविवार को एक शख्स ने अपनी दो बेटियों व दो नातिनियों को घर में बंदकर आग लगा दिया। जब लपटें तेज होने लगी तो उसने यूपी 112 पर फोन कर अग्निकांड की सूचना दी और मदद मांगी। ये मामला लोनी थाना क्षेत्र के चिरोड़ी गांव का है। इस अग्निकांड में दो बच्चों समेत चार लोग झुलसे हैं। सभी को दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पुलिस ने आरोपी पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की है। 

चिरोड़ी निवासी सलीम पत्नी फरीदा, बेटे रफीक व बेटी रोशनी के साथ रहता है। वह फल बेचकर परिवार का गुजारा करता है। रविवार सुबह उसकी बेटियां 28 साल की सहिरा व उसकी दो बेटियां आलिया (8) व अक्शा (5) और 25 साल ताहिरा कमरे में से रही थीं। घर के बाकी सदस्य बाहर गए थे। सलीम ने कपड़ों को एकत्रित कर उनमें पेट्रोल डालकर आग लगा दिया। इसके साथ ही कमरे को बाहर से बंद कर दिया। इसके बाद यूपी 112 पर कॉल कर घटना की जानकारी दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे की कुंडी खोलकर आग पर काबू पाया और दोनों महिलाओं व उनके बच्चों को बाहर निकालकर जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया। आरोपी सलीम को पुलिस ने हिरासत में लिया है। सलीम का आरोप है कि दोनों बेटियों साहिरा व ताहिरा की शादी अलीगढ़ में हो चुकी है। लेकिन न उन्हें उनके ससुराल वाले लेकर जा रहे हैं न वे खुद जाना चाहती हैं। दोनों बेटियां गलत संगत में पड़कर बदनामी करा रही हैं। जिसके कारण वह तनाव में था। 

एसपी देहात नीरज कुमार जादौन ने बताया कि सलीम ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि वह अपनी दोनों पुत्रियों से बेहद परेशान था। उसी के द्वारा घर में आग लगाई गई। फिलहाल सलीम से गहन पूछताछ की जा रही है और पूरे मामले की जांच करते हुए जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

Back to top button
E-Paper