गुजराती छोरे पर मर मिटी ब्राजील की लड़की, सास की इस शर्त पर कर सकी शादी

प्यार बड़ी मासूम चीज होती हैं. जब ये होता हैं तो इंसान जात, धर्म, रंग, रूप, दूरी इत्यादि चीजे नहीं देखता हैं. एक बार जब आप किसी को अपना दिल दे बैठते हैं तो फिर उसके लिए पूरी दुनियां से लड़ने को तैयार रहते हैं. उसके प्यार की खातिर आप खुद को बदल भी देते हैं और यदि प्यार दूर हो तो उसे पाने के लिए सात समुन्दर भी पार कर जाते हैं. ऐसे ही एक अद्भुत प्यार की कहानी आज हम आपको बताने जा रहे हैं. इस प्रेम कहानी में दूल्हा गुजरात का सांवला छोरा हैं तो दुल्हन ब्राजील की गोरी हैं.

दरअसल इस प्रेम कहानी की शुरुआत कनाडा के एक कॉलेज में हुई. यहाँ गुजरात के वडोदरा के पार्थ शाह और ब्राजील की रहने वाली कैरालीना पहली बार एक दुसरे से मिले थे. कॉलेज में साथ पड़ते हुए ये दोनों अच्छे दोस्त बन गए. इसके बाद धीरे धीरे ये एक दुसरे को पसंद भी करने लगे और अंत में दोनों ने शादी करने का फैसला ले लिया.

पार्थ के लिए अपनी फॅमिली को एक विदेशी बहू लाने के लिए मनाना इतना आसान नहीं था. खासकर कि पार्थ कि माँ को ये शादी सही नहीं लग रही थी. उनके अनुसार ‘हमारा परिवार शुद्ध शाकाहारी हैं, जबकि लड़की मांसाहारी हैं. इसलिए ये रिश्ता मुझे कुछ ठीक नहीं लग रहा था.’ हालाँकि जब पार्थ ने कैरोलिना से इस संबंध में बात करी तो उसने शादी की खातिर मांसाहारी खाना छोड़ दिया और शुद्ध शाकाहारी बन गई. इतना ही नहीं कैरोलिना ने तो अपने परिवार को भी शुद्ध शाकाहारी बनने के लिए राजी कर लिया.

कैरोलिना का कहना हैं कि मुझे पार्थ का गुजराती पहनावा, खानपान और भाषा काफी प्यारी लगी थी. इसलिए मैंने गुजरात आकर उन्ही की संस्कृति से शादी करने का निर्णय लिया. जब गुजरात में पार्थ और कैरोलिना की शादी हुई तो लड़की का कन्यादान करने के लिए उसकी पूरी फैमिली भी गुजरात आ गई. कैरोलिना के परिवार में उसकी माँ, पिता, भाई और जापानी भाभी हैं. ये सभी लोग भारतीय लिबाज पहने शादी में सरिक हुए थे. शादी में कैरोलिना के भाई और उनकी जापानी पत्नी ने जोरदार डांस भी किया. ये शादी पुरे हिन्दू रीती रिवाज जैसे मेंहदीं की रस्म, हल्दी की रस्म, मंडप पूजा, गणेश पूजन और कन्यादान इत्यादि के साथ संपन्न हुई.

पार्थ कहते हैं कि कैरोलिना की फैमिली के लोग काफी खुले विचारों वाले हैं. उनकी तरफ से शादी की पूरी हाँ थी. इसलिए वे लोग इस शादी में शामिल होने के लिए ख़ुशी ख़ुशी भारत भी आ गए. उन सभी लोगो ने शादी में बहुत एन्जॉय किया. खासकर कि उन्हें भारतीय पहनावा, यहाँ के व्यंजन और रीती रिवाज खूब पसंद आए. उन्होंने तो कैरोलिना की ख़ुशी की खातिर नोंवेज खाना भी छोड़ दिया. उधर कैरोलिना भी पार्थ के साथ शादी कर बेहद खुश हैं. कैरोलिना कहती हैं कि पार्थ मेरा काफी ख्याल रखता हैं और मुझे बेहद प्यार भी करता हैं. हम भी पार्थ और कैरोलिना के इस ख़ुशी के मौके पर उन्हें ढेर सारी बधाईयाँ देते हैं.

Back to top button
E-Paper