गुरुग्राम में शुरू हुआ एयरटेल 5G नेटवर्क का ट्रायल, मिली 1Gbps तक की डाउनलोड स्पीड

टेलिकॉम कंपनी एयरटेल ने गुरुग्राम के साइबर हब एरिया में अपने 5G नेटवर्क की टेस्टिंग शुरू कर दी है।कंपनी 3500Mhz मिडिल बैंड स्पेक्ट्रम पर ऑपरेट कर रही है और डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन (DoT) के नियमों के हिसाब ट्रायल्स कर रही है।रिपोर्ट्स में कहा गया है कि भारती एयरटेल अपने 5G नेटवर्क के साथ यूजर्स को 1Gbps से ज्यादा तक की स्पीड डिलीवर कर रही है।एयरटेल भारत में सबसे पहले 5G टेस्टिंग करने वाली कंपनी भी बनी थी। टेस्टिंग

मिड-स्पेक्ट्रम की टेस्टिंग कर रही है एयरटेल

एयरटेल भारत के दूसरे क्षेत्रों में अपने मिड-स्पेक्ट्रम की टेस्टिंग कर रही है।ETTelecom की रिपोर्ट में बताया गया है कि 5G ट्रायल के दौरान कंपनी 1Gbps से ज्यादा की स्पीड डिलीवर कर रही है।रिपोर्ट में बताया गया है कि एयरटेल को 5G ट्रायल स्पेक्ट्रम 3500 MHz, 28 GHz और 700 MHz अलॉट किए गए हैं।रिलायंस जियो और वोडाफोन आइडिया (Vi) को 700 MHz, 3.5 GHz और 26 GHz बैंड अलॉट किए गए हैं।एयरटेल

एरिक्सन नेटवर्क गियर का इस्तेमाल

DoT की ओर से एयरटेल को चार भारतीय टेलिकॉम सर्कल्स में टेस्टिंग स्पेक्ट्रम अलॉट किए गए हैं, जिनमें मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरू और दिल्ली शामिल हैं।एयरटेल एरिक्सन 5G के साथ साझेदारी में उसके 5G उपकरणों का इस्तेमाल ट्रायल्स के लिए कर रही है।बता दें, पिछले महीने DoT ने भारतीय टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स (TSPs) को भारत में 5G टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल और ऐप्लिकेशंस से जुड़े ट्रायल की अनुमति दे दी है।
विकल्प

चाइनीज उपकरणों के इस्तेमाल को अनुमति नहीं

अलग-अलग टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स ने 5G टेक्नोलॉजी से जुड़े उपकरणों के लिए अलग-अलग कंपनियों के साथ पार्टनरशिप की है।हालांकि, सरकार की ओर से साफ निर्देश दिए गए हैं कि कोई भी टेलिकॉम कंपनी चाइनीज ब्रैंड से जुड़े उपकरणों का इस्तेमाल कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी में नहीं करेगी।ऐसे में कंपनियों के पास एरिक्सन, नोकिया, सैमसंग और C-DOT जैसे विकल्प बचते हैं।रिलायंस जियो नई 5G टेक्नोलॉजी के लिए खुद के उपकरणों का इस्तेमाल करने वाली है।जियो

इसी महीने 5G से जुड़ी घोषणाएं कर सकती है जियो

रिलायंस एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) 2021 का आधिकारिक डेट की घोषणा कर दी गई है।रिलायंस इंडस्ट्रीज की 44वीं एनुअल जनरल मीटिंग इसी महीने 24 जून को दोपहर 2 बजे से होगी।एनुअल मीटिंग में मुकेश अंबानी भारत में रिलायंस जियो 5G की लॉन्च या रोलआउट डेट की जानकारी दे सकते हैं।बताते चलें, कंपनी ने पिछले साल दिसंबर में कहा था कि जियो 5G सेवाएं साल 2021 की पहली छमाही के आखिर में शुरू की जाएंगी।
शुरुआत

पहली बार 5G टेस्ट करने वाली कंपनी बनी एयरटेल

कई इलाकों में बेशक अभी 4G कनेक्टिविटी नहीं पहुंची है, लेकिन 5G सेवा ने पहली दस्तक दे दी है।पिछले दो साल से 5G स्मार्टफोन्स भारतीय मार्केट में खरीदे जा रहे हैं और अब भारती एयरटेल देश में सबसे पहले 5G की टेस्टिंग करने वाली टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर कंपनी बन गई है।एयरटेल ने 5G वायरलेस सर्विस की टेस्टिंग हैदराबाद शहर में की और मार्केट में अपने सबसे बड़े कॉम्पिटीटर जियो को पीछे छोड़ दिया है।

Back to top button
E-Paper