गैरकानूनी गतिविधि बर्दाश्त नहीं : कानपुर में अरेस्ट तीन तस्करों पर लगेगी रासुका 

उत्तर प्रदेश के कानपुर में बीते गुरुवार को रेडमेसिविर इंजेक्शन की 265 वायल के साथ पकड़े गए तीन तस्करों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) लगाएगी। योगी सरकार ने इसके जरिए स्पष्ट संदेश दिया है कि आपदा में अवसर तलाशने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

गैरकानूनी गतिविधि बर्दाश्त नहीं

कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने कहा कि योगी सरकार ने यूपी पुलिस को ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है जो कोविड-19 दवाओं की कालाबाजारी करते हैं। लिहाजा संकट के इस दौर में कोई भी गैरकानूनी गतिविधि बर्दाश्त नहीं की जाएगी और ऐसे लोगों को सख्त से सख्त सजा दी जाएगी।

इंजेक्शन के साथ तीन लोगों को STF ने किया था गिरफ्तार
कानपुर की स्पेशल टास्क फोर्स ने बीते गुरुवार को 265 रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया था, जो इसकी कालाबाजारी करने में शामिल थे। कोरोना संकट के दौर में भी लोगों की परेशानियों को इग्नोर कर कुछ लोग अवैध धन उगाही करने में व्यस्त हैं। ऐसे कुछ लोग रेमडेसिविर इंजेक्शन ऊंचे दामों में बेच रहे हैं।

कोरोना उपचार के लिए प्रमुख दवा है रेमेडेसिविर

बता दें कि रेमेडेसिविर एक प्रमुख दवा है, जिसका उपयोग कोरोना वायरस के उपचार में किया जाता है। कमी का फायदा उठाकर कुछ लोग शीशियों को ऊंचे दामों पर बेच रहे हैं। जिसके लिए नौबस्ता के पशुपति नगर के एक प्रशांत शुक्ला और बख्तौरी पुरवा निवासी मोहन सोनी को पहले गिरफ्तार किया गया था।

Back to top button
E-Paper