घर वालो को प्यार नहीं था मंजूर, गुस्से में प्रेमी से पहले लवर को गोली से उड़ाया फिर…

झांसी )। नवाबाद थाना क्षेत्र में प्रेम प्रसंग के चलते एक युवक ने पहले प्रेमिका को गोली मार दी। उसके बाद खुद को भी गोली मार कर आत्महत्या कर ली। घटना बुधवार देर रात या गुरुवार सुबह तड़के की बताई जा रही है। सुबह जब इसकी जानकारी परिजनों को हुई तो हड़कम्प मच गया। आनन फानन घटना की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंचकर दोनों शव अपने कब्जे में ले लिए। साथ ही युवक के शव के पास से तमंचा और खोखा कारतूस भी बरामद किया है। पुलिस ने शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

गुरुवार की सुबह पुलिस को सूचना मिली कि कुम्हार का कुआं मोहल्ला निवासी अशोक प्रजापति के मकान में युवक व युवती के शव पड़े हैं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की तफ्तीश की तो मामला कुछ इस प्रकार सामने आया। बताया जा रहा है कि नरेन्द्र कुशवाहा गुमनावारा में रहता था। उसका कुम्हार का कुआं मोहल्ले में रहने वाली पिंकी प्रजापति के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। हालांकि पिंकी के परिजन इससे सहमत नहीं थे। इसलिए उन्होंने पिंकी की शादी कहीं दूसरी जगह तय कर दी। शादी 9 दिन बाद आने वाली 23 मई को थी। बीती रात नरेन्द्र किसी तरह पिंकी के घर जा पहुंचा। वहां उसने आधी रात के बाद या गुरुवार की सुबह तड़के पहले पिंकी को गोली मार दी और उसके बाद खुद को गोली मारकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। हालांकि पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है। मामला संदिग्ध बताया जा रहा है।

मामला संदिग्ध

घटनास्थल के अनुसार प्रथम दृष्टया प्रतीत हुआ कि पहले नरेंद्र ने पिंकी को गोली मारकर उसकी हत्या की और बाद में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। हालांकि परिजनों का कहना है कि देर रात उन्होंने गोली चलने की आवाज सुनी थी। लेकिन नींद में होने के चलते उन्होंने यह सोचा कि हो सकता है कहीं पटाखे चले हों। चैकाने वाली बात यह है कि एक ही मकान के किसी कमरे में गोली चलने की आवाज भी परिजनों को समझ नहीं आई। और भी तमाम प्रश्न हैं जिन पर पुलिस ने अपने स्तर से तहकीकात शुरु कर दी है।
सुबह हुई जानकारी

परिजनों ने बताया कि गुरुवार की सुबह देर तक कमरे के दरवाजे नहीं खुले। इसके चलते उन्होंने उसे खोलने का प्रयास किया। जब दरवाजा नहीं खुला तो कमरे की खिड़की तोड़कर परिजन कमरे में पहुंचे। वहां बिस्तर पर पिंकी और नरेंद्र के शव पड़े हुए थे। बाद मंे इसकी जानकारी पुलिस को दी गई।

ननि में बताया जा रहा संविदा कर्मी

सूत्रों की मानें तो नरेन्द्र कुशवाहा नगर निगम में संविदा कर्मचारी था। गुमनावारा में रहने से पहले वह कुम्हार के कुआ पर अशोक के मकान में ही रहता था। वहीं पिंकी से इसके संबंध हुए थे। जब इसकी जानकारी परिजनों को हुई तो नरेन्द्र को वहां से बाहर निकाल दिया था। उसके बाद से नरेन्द्र गुमनावारा में रहने लगा था।

क्षेत्राधिकारी बोले,पहले प्रेमिका को मारा फिर प्रेमी ने की आत्महत्या
क्षेत्राधिकारी नगर का बयान भी चैकाने वाला था। उन्होंने बिना पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आए ही बता दिया कि पहले प्रेमी नरेन्द्र ने अपनी प्रेमिका पिंकी को गोली मार दी और उसके बाद खुद को गोली से उड़ा लिया। हालांकि उनके बयान को लोग जल्दबाजी बता रहे हैं।

Back to top button
E-Paper