जरूरी खबर : बदलने जा रहा LPG गैस सिलेंडर से जुड़ा नियम, जल्दी जान लें नहीं तो होगी परेशानी

नई दिल्ली। कस्टमर्स की सहूलियत के लिए ज्यादातर तेल कंपनियां रसोई गैस की होम डिलीवरी देती है। मगर 1 नवंबर से पूरा प्रोसेस बदलने वाला है। सिलेंडर की ब्लैक मार्केटिंग (Black Marketing of Cylinder) पर लगाम लगाने के मकसद से सरकार ने नया नियम लागू करने वाली है। इसके तहत बिना OTP बताए घर पर रसोई गैस सिलेंडर की डिलीवरी (LPG Gas Cylinder) नहीं हो पाएगी। इसलिए अगर आप घर बैठे इस सुविधा का लाभ लेना जारी रखना चाहते हैं तो अपनी गैस एजेंसी पर मोबाइल नंबर को रजिस्टर्ड करा लें।

सरकार के आदेशानुसार तेल कंपनियां नया LPG सिलेंडर का डिलिवरी सिस्टम लागू करने वाली हैं। इससे घरेलू सिलेंडर (Domestic Cylinder) की चोरी रोकने और सही कस्टमर की पहचान में मदद मिलेगी। 1 नवंबर से देश के 100 स्मार्ट सिटीज में गैस की डिलीवरी के लिए वन टाइम पासवर्ड (OTP) अनिवार्य हो जाएगा। इस नए सिस्टम को DAC नाम दिया गया है। तेल कंपनियों ने सभी ग्राहकों को जल्द से जल्द अपना नाम, पता और मोबाइल नंबर अपडेट कराने को कहा है, जिससे उन्हें सही समय पर सिलेंडर की होम डिलीवरी मिल सके। हालांकि यह नियम कमर्शियल (commercial) LPG सिलेंडर के लिए लागू नहीं होगा।

जानें कैसे काम करेगा नया सिस्टम
सिलेंडर की होम डिलीवरी के लिए DAC यानी डिलीवरी ऑथेंटिकेशन कोड जरूरी होगा। इसके लिए गैस एजेंसी आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक कोड भेजेगा। उस कोड को आपको डिलीवरी बॉय को दिखाना होगा। इसके बाद ही वे आपको सिलेंडर देंगे। बिना ओटीपी के डिलीवरी पूरी नहीं होगी। अगर किसी कस्टमर ने डिस्ट्रीब्यूटर के पास अपना मोबाइल नंबर अपडेट नहीं कराया है तो डिलीवरी बॉय के पास मौजूद मोबाइल में एक ऐप होगा जिसके जरिए आप अपना नंबर अपडेट करवा सकेंगे। ऐसा करने पर रियल टाइम में एक कोड जनरेट होगा। जिसके इस्तेमाल से आप रसोई गैस ले सकेंगे।

Back to top button
E-Paper