जानिए कब है धनतेरस या धनत्रयोदशी, जानिए तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

दशहरे के साथ ही भारत में फेस्टिव सीजन (Festival Season) की शुरूआत हो चुकी है. लोग धनतेरस (Dhanteras), दीपावली (Diwali) और भाईदूज (Bhai Dooj) की तैयारी में जुटे हैं. दिवाली और धनतेरस से पहले करवा चौथ और अहोई अष्टमी जैसे बड़े पर्व भी आ रहे हैं. महिलाओं ने करवा चौथ की तैयारी शुरू कर दी है.

भारत में इन त्योहारों का बड़ा महत्व है. आम आदमी से लेकर कारोबारी, राजनेता, फिल्मी सितारे और खिलाड़ी तक समाज के हर वर्ग में दिवाली और धनतेरत का क्रेज रहता है. हालांकि लोग त्योहारों की तैयारियों तो जुटे हुए हैं लेकिन इनकी तारीखों को लेकर कुछ भ्रम की स्थिति बनी हुई है.

यहां हम बता रहे हैं कि कौन से त्योहार कब हैं और उनके शुभ मुहुर्त क्या हैं.

करवा चौथ
सुहागिन महिलाओं का बड़ा त्योहार करवा चौथ (Karva Chauth 2020) इस बार 4 नवंबर को पड़ रहा है. इस दिन महिलाएं पति की लंबी उम्र के लिए उपवास रखती हैं. रोत को चांद देखने के बाद वे भोजन करती हैं. इस दिन महिलाएं पूरे साजो-श्रृंगार के साथ पूजा-पाठ करती हैं.

करवा चौथ की तैयारियों को लेकर बाजारों में महिलाओं की भीड़ जुटने लगी है. ब्यूटी पार्लर भी इन दिनों व्यस्त देखे जा रहे हैं.

अहोई अष्टमी
बच्चों की लंबी आयु और अच्छे स्वास्थ्य के लिए महिलाएं अहोई अष्टमी (Ahoi ashtami 2020) का व्रत रखती हैं. अहोई अष्टमी का पर्व करवा चौथ के चार दिन बाद और दिवाली से ठीक एक सप्ताह पहले मनाया जाता है. इस बार अहोई अष्टमी 8 नवम्बर 2020 दिन रविवार को है.

धनतेरस
दिवाली (Diwali 2020) की तरह ही धनतेरस को भी धन और समृद्धि का त्योहार माना जाता है. इस बार धनतेरस का पर्व 13 नवंबर, शुक्रवार को मनाया जाएगा. इस दिन घर में भगवान धनवंतरी और मां लक्ष्मी की पूजा होती है. धनतेरस के दिन नया काम करने, नया सामान खरीदने और सोना-चांदी खरीदना शुभ माना जाता है.

दीपावली
हिंदुओं का सबसे बड़ा पर्व दीपावली का त्योहार धनतेरस (Dhanteras 2020) के अगले दिन यानी शनिवार, 14 नवंबर को मनाई जाएगी. इस दिन घर में भगवान गणेश और मां लक्ष्मी की पूजा होती है. कारोबारी भी इस दिन नए बही-खाते शुरू करते हैं.

गोवर्धन पूजा
इंद्र देव पर भगवान कृष्ण की विजय के रूप में गोवर्धन पूजा (Govardhan Puja 2020) की जाती है. इस बार गोवर्धन का पर्व रविवार, 15 नवंबर को मनाया जाएगा. इस दिन घरों और मंदिरों में अन्नकूट प्रसाद बनता है. मथुरा जिले यह पर्व बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है. यहां दीपावली से ज्यादा आतिशबाजी गोवर्धन के दिन होती है.

भाई दूज
भाई-बहन के अटूट बंधन का प्रतीक भाई दूज (Bhai Dooj 2020) का त्योहार दीपावली के दो दिन बाद मनाया जाता है. इस बार भाई दूज सोमवार, 16 नवंबर को मनाया जाएगा. इस दिन बहनें भाई की उन्नति और उसकी लंबी उम्र की कामना करती हैं.

Back to top button
E-Paper