जोक्स : पलंग के नीचे सीसीटीवी कैमरा ढूंढने लगी आलिया, वजह जान हो जाओगे लोटपोट

जोक्स को मनोरंजन का सबसे बेहतरीन साधन माना जाता हैं. ऐसा कहा जाता हैं कि जो व्यक्ति दिन में रोजाना जोक्स पढ़ता हैं वो डिप्रेशन से दूर रहता हैं. ये जोक्स हमारे दिमाग और मूड को फ्रेश करने का काम करते हैं. इन्हें पढ़ने के बाद हम अपनी लाइफ की सभी परेशानियों को कुछ देर के लिए भूल जाते हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम एक बार फिर से आपके लिए जोक्स का शानदार कलेक्शन लेकर आए हैं. चलिए फिर बिना किसी देरी के इन जोक्स को फटाफट पढ़ लेते हैं और हंसी की दुनिया में खो जाते हैं.

टीचर – अच्छा तो बच्चों आज मैं तुम्हारा टेस्ट लूंगी. बंटू कबीर दास का एक दोहा सुनाओ.
बंटू – कबीर दास है बाबरो, दोहा गयो बनाय |
खुद तो कबको चली गयो, हमको गयो फसाय ||
टीचर बेहोश.

जीजा अपनी साली के साथ चैटिंग कर रहा था. जीजा – वाह तुम तो अपनी बहन से भी ज्यादा सुन्दर हो.
साली – जीजू आप बड़े वो हो.
जीजा – अच्छा ये तो बताओ तुम इतनी सुंदर कैसे हो? आखिर क्या use करती हो ?
साली – फोटोशॉप.(जीजा बेहोश)

पप्पू – ये ट्रेन चल क्यों नहीं रही
टीटी – अरे भारी वर्षा की वजह से ट्रेन लेट है.
पप्पू – वर्षा इतनी भारी है तो वर्षा को ट्रेन से उतार क्यों नहीं देते.
टीटी बेहोश.

टीचर – तुम कल स्कूल क्यों नहीं आये थे ?
लड़का – जी वो, कल मेरे घर में पूजा थी.
टीचर – तो परसों क्यों नहीं आये थे ?
लड़का – जी परसों मेरे घर प्रिया थी. (टीचर बेहोश)

टीचर – दुर्भाग्य और दुर्दशा में क्या फर्क है ?
बच्चा – सर अगर इस स्कूल में आग लग जाये
तो स्कूल की हालत खराब हो जाएगी इसे कहते है – “दुर्दशा”
और इतनी आग लगने पर भी आप जिन्दा बच गए तो ये होगा हमारा “दुर्भाग्य” (टीचर बेहोश)

सरदार दुखी था…
किसी ने पूछा:क्यूँ टेंशन में हो?
सरदार: यार एक दोस्त को प्लास्टिक सर्जरी के लिए 2 लाख रुपये दिए थे..
अब साले को पहचान नहीं पा रहा.

Back to top button
E-Paper