तंत्र-मंत्र के चक्कर में तीन साल के मासूम को मार डाला, जंगल में गड्ढा खोदकर दबाया शव

आगरा
उत्तर प्रदेश के आगरा में थाना पिनाहट के गांव जोधपुरा के जंगल में एक मासूम का शव   मिलने से सनसनी फैल गई। बच्चे को लाल कपड़े में लपेटा गया था। उसके आसपास नींबू, सिंदूर, चाकू , फावड़ा आदि वस्तुएं मिली हैं। प्रथम दृष्टया में मामला तंत्र-मंत्र क्रियाओं से जुड़ा प्रतीत होता है। जिसके चलते बच्चे की बलि दी गयी है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि  एक ऑटो में तीन युवक और एक महिला आई थी। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

गड्ढे में दबा हुआ था बच्चे का शव
ग्रामीणों ने बताया कि  एक ऑटो में एक महिला और तीन युवक आए थे। इसके बाद वह तेजी से वहां से लौट गए। जब ग्रामीण जंगल की ओर गए तो उन्होंने देखा कि गड्ढा खुदा हुआ था और वहां चाकू, फावड़ा, नींबू, सिंदूर समेत तंत्र-मंत्र की क्रियाओं से जुड़ा हुआ सामान बिखरा पड़ा था। उसे देख उन्हें शक हुआ और उन्होंने आसपास के लोगों को सूचना दी थी, लेकिन कोई भी जंगल की ओर नहीं आया। उन्होंने बताया कि उन्होंने पुलिस को भी सूचना दी थी , लेकिन पुलिस ने भी अनसुना कर दिया था। जब एसपी ग्रामीण के वेंकटेश को इसकी जानकारी हुई तो पुलिस ने दौड़ लगाई। एसपी ग्रामीण ने बताया कि बच्चे की उम्र करीब तीन से चार वर्ष है। उसकी शिनाख्त की कोशिश की जा रही है।

ऑटो में लोगों की पड़ताल में जुटी पुलिस
ग्रामीणों के मुताबिक ऑटो में आए चारों लोग बाहरी थे। गांव में कोई सीसीटीवी कैमरे नहीं होने से पुलिस आसपास के क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज तलाश रही है। के अलावा आसपास के थानों में बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट की भी जानकारी की जा रही है। एसपी ग्रामीण के वेंकटेश का कहना है कि मामले का जल्द ही खुलासा कर दिया जाएगा यह तंत्र-मंत्र के चलते की गई हत्या प्रतीत होती है।

अंधविश्वास में हत्याओं की आशंका!
थाना कोतवाली के कूचा साधुराम में हुए हत्याकांड में तीन बच्चे और उनकी मां का शव मिला था। तीनों बच्चों के गले मे लाल कपड़ा बंधा हुआ था। आसपास के लोगों का कहना था कि रेखा राठौर के घर के बाहर अक्सर सिंदूर लगा नींबू पड़ा मिलता था। उसके घर एक पुजारी का भी आना जाना रहता था। इस तरह की घटनाओं के बढ़ने से अंधविश्वास में होने वाली हत्याओं के मामले लगातार बढ़ रहे हैं।

Back to top button
E-Paper