दिल्ली न्यूज़ : भड़काऊ भाषण पर पुलिस ने कसा शिकंजा, इन 31 लोगों पर दर्ज हुआ मामला

-दिल्ली पुलिस ने ओवैसी, यति नरसिंहानंद समेत 31 लोगों पर दर्ज किया मामला

नई दिल्ली । भड़काऊ भाषण देकर बवाल काटने वालों के खिलाफ पुलिस शिकंजा कसता जा रहा है। दिल्ली पुलिस की इंटेलीजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटजिक ऑपरेशन (आईएफएसओ) यूनिट ने भड़काऊ भाषण देकर नफरत के संदेश फैलाने एवं सोशल मीडिया पर उसे पोस्ट करने के आरोप में दो एफआईआर में 31 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

इसमें असदुद्दीन ओवैसी, यति नरसिंहानंद एवं नूपुर शर्मा सहित अन्य लोग शामिल हैं। नूपुर के खिलाफ तो मुंबई के बाद दिल्ली में यह दूसरी एफआईआर है। एफआईआर की जद में आए इन लोगों पर कथित तौर पर नफरत भरे संदेश फैलाने का आरोप है। विभिन्न समूहों पर उकसाने का आरोप है और ऐसी स्थिति पैदा कर रहे हैं जिससे शांति-व्यवस्था को नुकसान पहुंच सकता है।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक दोनों एफआईआर दिल्ली पुलिस ने सुमोटो लेते हुए दर्ज की है। दिल्ली पुलिस की आईएफएसओ यूनिट के डीसीपी केपीएस मल्होत्रा का कहना है कि नूपुर के विवादित बयान के बाद सोशल मीडिया का विश्लेषण किया गया, जिसके आधार पर आरोपियों की सूची तैयार की गई। नूपुर के बयान से पहले और बाद में जो भी ट्वीट हुए और सोशल मीडिया पर विवादित बयान आए, उनकी पड़ताल करने के बाद पुलिस ने दोनों एफआईआर दर्ज की है।

इन 31 लोगों पर केस दर्ज

सादाब चौहान, सबा नकवी, हफिजुल हसन अंसारी, बिहारी लाल यादव, इलियास सरफुदीन मौलाना मुफ़्ती नदीम,अब्दुर रहमान, आर विक्रमण, नगमा शेख,डॉ मोहम्मद करीम तुर्क, अतितुर रहमान खान,शुजा अहमद,विनीता शर्मा,इम्तियाज अहमद, असदुद्दीन ओवैसी, कुमार दिवशंकर, दानिश कुरैशी, यति नरसिंहानंद, स्वामी जितेंद्रनंद, लक्ष्मण दास, अनिल कुमार मीणा, काशिफ, मोहम्मद शाजिद शाहीन, कु सेनसई, गुलज़ार अंसारी, सैफ एड दिन कुतुज़ मौलाना सरफराज, पूजा शाकुन पांडेय, मिनाक्षी चौधरी और मसूद फयाज हासमी शामिल है।

गृह मंत्रालय को दी कार्रवाई की रिपोर्ट

वहीं, सूत्रों की मानें तो भड़काऊ भाषण मामले में एफआईआर दर्ज करने के बाद गृह मंत्रालय को दिल्ली पुलिस की आईएफएसओ यूनिट रिपोर्ट सौंपी और मंत्रालय के अधिकारियों के बीच बैठक की। पुलिस ने इन लोगों के खिलाफ अलग-अलग प्रावधानों के तहत केस दर्ज किया है। इसके लिए पुलिस आरोपियों को नोटिस देकर पूछताछ के लिए बुलाएगी।

सोशल मीडिया पर बारीक नजर

उधर दिल्ली पुलिस ने ट्वीट कर कहा कि सोशल मीडिया पर उनकी नजर है। भड़काऊ कंटेंट वाली सामग्री सोशल मीडिया पर डालने वालों के अकाउंट्स इनके पीछे जिम्मेदार लोगों की जानकारियों के लिए सोशल मीडिया मंचों को भी नोटिस भेजे जा रहे हैं।

दिल्ली पुलिस ने सभी से ऐसे संदेश पोस्ट करने से बचने की अपील की है जो सामाजिक और साम्प्रदायिक सौहार्द्र को बिगाड़ते हो। हमने सोशल मीडिया विश्लेषण के आधार पर सार्वजनिक शांति भंग करने और लोगों को उकसाने की कोशिश करने वालों के खिलाफ उचित धाराओं के तहत दो प्राथमिकियां दर्ज की हैं। जांच के आधार पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

प्रदर्शन कर रहे 33 हिरासत में

उधर भाजपा नेता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल द्वारा दिए गए बयानों को लेकर गुरुवार को एआईएसआईएम के दिल्ली प्रदेश कार्यकर्ताओं ने जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल की गिरफ्तारी की मांग की। बढ़ती भीड़ के बीच दिल्ली पुलिस करीब 33 लोगों को हिरासत में लिया। हालांकि हिरासत में लिए जाने के दौरान कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी करते हुए विरोध जताया।

Back to top button