नहाने के दौरान जो लोग करते हैं ये एक आसान काम, वो पूरी जिंदगी नहीं पड़ते बीमार

खुद को तरोताजा होने के लिए रोजाना नहाना बेहद जरुरी है। नियमित रूप से नहाने वालों में बैक्टीरिया के पनपने की आशंका कम होती है। तन की दुर्गंध से निजात पाने के लिए हर रोज नहाना बेहद जरूरी है। कील-मुंहासों की समस्या से दूर रहने के लिए भी नहाना बहुत जरूरी है। अगर आप नहीं नहाते हैं तो खतरनाक बैक्टीरिया बढ़ जाते हैं जिससे ये संतुलन बिगड़ जाता है और संतुलन बिगड़ने से कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हमारे जीवन में हम आए दिन ऐसी गलतियां कर बैठते हैं जो हमें पता भी नहीं होता वहीं आपको बता दें कि ये गलतियां लगभग हर कोई करता है पर उसे पता नहीं होता कि उसकी गलती का परिणाम इतना भयानग होगा। जी हां दरअसल हम बात कर रहे हैं आपके हर दिन नहाते समय की गई गलतियों की। जी हां नहाने के समय हर कोई जाने अनजाने में ये गलती करता है। अक्‍सर लोग नहाते समय सही तरीका नहीं अपनाते हैं जिसकी वजह से 90 प्रतिशत बिमारियां उनके शरीर में घर कर जाती है।

ये तो हर कोई जानता है कि नहाना हर व्यक्ति के लिए ज़रूरी है। नहाने से शरीर स्वस्थ रहता है और मन में अच्छे विचार आते हैं। वहीं अब आप सोच रहे होंगे कि भला नहाने का भी कोई तरीका होता है क्‍या ? और अगर होता है तो सही तरीका क्‍या है ? सबसे पहले तो आपको बता दें कि अक्‍सर लोग नहाते समय शावर ऑन करते है के नहाते हैं या फिर बाल्‍टी में पानी भरते हैं और डायरेक्‍ट अपने शरीर पर पानी डालते हैं जी हां लेकिन क्‍या आपको पता है कि ऐसा करने से आप पैरालाइजड हो सकते हैं या फिर आपको हार्ड अटैक जैसी समस्‍याएं हो सकती है या फिर ब्रेन हैम्‍रेज जैसी कई तरह की भयानक बिमारियों को आप न्‍यौता दे रहे है। इतना ही नहीं दिमाग काम करना भी बंद कर सकता है।

अब आप सोच रहे होंगे कि भला नहाने का सही तरीका क्‍या होता है तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि नहाने का सही तरीका क्‍या होता है। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हमारे शरीर में सिर से लेकर पैर तक ब्‍लड चल रहा है। नहाने का सही तरीका है कि आप सबसे पहले अपने पैर पर पानी डालें। इसके पार फिर थाई पर और फिर पेट पर पीठ पर फिर थोड़ा थोड़ा पानी लेकर अपने पूरे शरीर को गीला कर लें ऐसा करने के बाद अब आप प्रोपर नहा सकते हैं एेसा करने से शरीर का तापमान बना रहता है और आप स्वस्थ रहते हैं।

ये है सही तरीका :

वहीं इसके विपरीत सिर पर पानी डालने से दिमाग में जो पतली पतली नशें होती हैं वो अचानक ठंडी पड़ जाती है और ब्‍लॉक हो जाती है इससे नशे फटने पर आ जाती है और दिमाग ठंडा पड़ने लगता है हो सकता है कि कभी आपको हार्ट अटैक भी आ जाए। इसलिए ध्‍यान रहे कि नहाते समय कभी भी सिर पर एकाएक पानी न डालें।

वैसे आपको बता दें कि सुबह के समय स्नान पूरे व्यस्त दिन के लिए सबसे अच्छा तरीका है, लेकिन रात में नहाना या शावर भी अच्छी नींद लेने का एक शानदार तरीका है। नींद वैज्ञानिक जेसा गैंबल की खोज के अनुसार शरीर का तापमान सोने के समय कम हो जाता है।

Back to top button
E-Paper