नुसरत जहां ने लगाए पति निखिल जैन पर आरोप- ‘बैंक से निकाले मेरे पैसे-पुश्तैनी गहने भी नहीं छोड़े’

नुसरत जहां ने बुधवार को ये बयान देकर सबको चौंका दिया कि उनके और उनके पति निखिल की शादी मान्‍य ही नहीं है तो तलाक देने की बात कहां से आती है । अब रिश्‍तों पर उठ रहे सवालों के बीच नुसरत जहां ने एक और बयान जारी कर पति पर गंभीर आरोप लगाए हैं । नुसरत ने एक बयान जारी कर अपनी शादी और अकाउंट्स के साथ की गई छेड़छाड़ का खुलासा किया है ।

नुसरत के आरोप
नुसरत जहां का पति निखिल पर आरोप है कि उन्‍होंने उनकी जानकारी के बिना ही उनके अकाउंट से पैसे निकाले हैं । नुसरत ने अपने बयान में लिखा है- जो शख्स खुद को रईस बताते हैं कि मैंने उसका इस्तेमाल किया, वो रात के किसी भी समय गैर-कानूनी रूप से मेरे बैंक अकाउंट्स से पैसे लेता है । अलग होने के बाद भी यह जारी है । मैंने उचित बैंकिंग अथॉरिटी को इस संदर्भ में पहले ही बता दिया है और बहुत जल्द एक पुलिस थाने में शिकायत भी दर्ज की जाएगी ।

सबूत भी दे सकती हूं
नुसरत ने आगे लिखा है- पहले भी उसके आग्रह पर मेरे और मेरे परिवार वालों के सारे बैंक डिटेल्स उसे दे दिए गए थे, इसके बाद बैंक को हमारे बैंक अकाउंट्स को लेकर दिए निर्देशों का ना मुझे और ना मेरे परिवार वालों को कुछ पता है । वो मेरी जानकारी और मेरी रजामंदी के बिना ही मेरे अलग-अलग अकाउंट्स के फंड्स का गलत इस्तेमाल कर रहा था । मैं अभी भी इसपर बैंक के साथ लड़ रही हूं और अगर जरूरत पड़े तो सबूत भी जारी कर दूंगी । नुसरत ने कहा, जो कुछ भी मेरा था, मेरे कपड़े, बैग्स, एसेसरीज अभी भी उसके पास है। मुझे यह बताने में दुख हो रहा है कि मेरे पुस्तैनी गहने जो मेरे परिवार वालों, दोस्तों और रिश्तेदारों ने दिए थे, साथ ही मेरे मेहनत की कमाई की संपत्त‍ि सभी उसके पास है । इसके अलावा भी नुसरत ने कई बातें कहीं हैं ।

शादी मान्‍य नहीं
इससे पहले नुसरत जहां अपने बयान में कह चुकी है कि निखिल संग उनकी शादी देश में अमान्य है । उन्होंने कहा कि तुर्क‍िश मैरिज रेगुलेशन के मुताबिक एक विदेशी जमीन पर हुई उनकी शादी अमान्य है । इसके अलावा भारत में स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत भी दो अलग-अलग धर्म के लोगों के बीच में हुई शादी को रजिस्‍टर कराना होता है, चूंकि ऐसा नहीं हुआ इसलिए ये शादी मानी नहीं जा सकती । नुसरत ने बताया कि- हम बहुत पहले ही अलग हो गए थे, लेकिन मैंने इसके बारे में बात नहीं की क्योंकि मैं अपनी प्राइवेट लाइफ को अपने तक ही सीमित रखना चाहती थी।

Back to top button
E-Paper