पति ने पार की क्रूरता की सारी हदें, पत्‍नी को जबरन पिलाया तेजाब ; गल गईं पेट की अंतड़ियां

मध्य प्रदेश के डबरा से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक नवविवाहिता को उसके ही पति ने एसिड पिलाकर मार डालने का प्रयास किया। मामले को लेकर दिल्ली महिला आयोग की प्रेजीडेंट स्वाती मालीवाल ने पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है, साथ ही प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान पर ट्वीट के जरिए मामले को गंभीरता से लेने की बात कही है।

जानकारी के मुताबिक, डबरा के रामगढ़ मोहल्ले में रहने वाली नवविवाहिता को उसके पति वीरेंद्र ने तेजाब पिला दिया जिसके बाद महिला की हालत बिगड़ गई। उसे फौरन ग्वालियर और उसके बाद दिल्ली ले जाया गया। तब से लेकर उसका अब तक इलाज जारी है।

घटना के 5 दिन बाद पुलिस ने महिला की मां की शिकायत पर पति और दोनों अन्य लोगों पर दहेज एक्ट का मामला दर्ज कर लिया था पर इस मामले में ना तो कोई बड़ी धारा के तहत मामला दर्ज किया और ना आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। वहीं, स्वाती मालिवाल ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि घटना को पुलिस ने हल्के में लिया जिसके चलते 28 तारीख से अब तक आरोपी अरेस्ट नहीं किए गये।

ये है महिला का आरोप

पीड़ित महिला का आरोप है कि उसे उसके पति के नाजायज संबंधों के बारे में पता चल गया था। इसी बात से उसका पति नाराज हो गया और उसने अपनी भाभी के साथ मिलकर उसे तेजाब पिला दिया। महिला को पहले ग्वालियर के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन हालत बिगड़ने के बाद उसे दिल्ली रेफर कर दिया गया, जहां उसका इलाज जारी है।

मामले में गरमाने लगी राजनीति

इस मामले में दिल्ली महिला आयोग की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ट्विट करते हुए मामले में लापरवाही बरतने का आरोप पुलिस पर लगाया इसके बाद मामला गरमा गया और पुलिस अधिकारी आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास में जुट गए हैं। वहीं पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी शासन प्रशासन पर निशाना साधा है।

दबाव के बाद हरकत में आई पुलिस

इस मामले को लेकर एमपी पुलिस ने अपनी सफाई में कुछ अलग ही तर्क दिया है। पुलिस का कहना है कि पीड़िता के पिता ने साफ तौर पर मना किया कि उसके पति को गिरफ्तार नहीं किया जाए, क्योंकि वह महिला का इलाज करा रहा है। हालांकि इस मामले में दबाव के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, साध ही अन्य की तलाश जारी है।

 

 

Back to top button
E-Paper