पूरी दुनिया को बेवकूफ बनाया ये पाकिस्तानी ‘चायवाला’, हकीकत जानकर सब हैरान !

कुछ अरसा पहले एक फोटो सोशल मीडिया पर इतनी ज्यादा वायरल हुई थी कि लड़कियां से लेकर बच्चे बूढ़े सभी उसके दीवाने हो गए थे। हम बात कर रहे है पाकिस्तान के चाय बेचने वाले की जो अपनी नीली आँखों की वजह से पूरी दुनिया मे लोकप्रिय हो गया था जिसका नाम अरशद खान है। लोगों ने इस बंदे की फोटो को इतना शेयर किया कि ये पॉपुलर हो गया। इसकी नीली आंखों की लड़कियां दीवानी हो गई। इसका वो चाय छानने वाला पोज इंटरनेट पर खूब वायरल हुआ था लेकिन अब एक बार फिर से अरशद खान सुर्खियों में है।

आपको बता दे की लोगों ने इस स्मार्ट चायवाले की खूब तारीफ की और इसकी फोटो को खूब पसंद किया। सिर्फ इतना ही नही लाखों लड़कियां उस चाय वाले की दीवानी हो गईं और उसे सोशल मीडिया के माध्यम से शादी के लिए प्रपोज़ करने लगी। खैर उन तस्वीरों से अरशद को काफ़ी फ़ायदा हुआ और उसे मॉडलिंग और म्यूज़िक एल्बम के कई कॉन्ट्रैक्ट मिल गए। जिसके बाद वो एक म्यूजिक विडियो मे नजर भी आए।

अभी अरशद मिया के चर्चे कम हुए ही थे की एक बार फिर से उसमे घी दाल दी गयी।  मगर इस बार वो अपनी नीली आँखों की वजह से नहीं बल्कि किसी और वजह से। आपको बता दे की हाल ही में इस नीली आंखों वाले चायवाले को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है और उसका एक बड़ा सच सबके सामने आया है। जिस अरशद खान को लोगों ने पाकिस्तानी चायवाले के नाम से मशहूर कर दिया दरअसल वो पाकिस्तानी है ही नहीं। बताया जा रहा है की अरशद खान पाकिस्तान में अवैध तरीके से रह रहा था, असल में वो अफ़गानिस्तान का नागरिक है। पाकिस्तानी संस्था नेशनल डाटाबेस एंड रजिस्‍ट्रेशन अर्थॉरिटी ने ख़ुद इस बात की पुष्टि की है।

आपको बताते चले की इस झूठ से पर्दा तब उठा जब अरशद एनएडीआरए ऑफिस मे अपना पासपोर्ट बनवाने आए थे। वहां जांच-पड़ताल में सामने आया कि अरशद तो पाकिस्‍तान के नागरिक नहीं हैं। जांच में ये भी पता चला कि अरशद ने अपनी पहुंच का इस्तेमाल करके पाकिस्तान के लिए फर्ज़ी मतदाता पहचान पत्र भी बनवा लिया था। अरशद पाकिस्तान के इस्लामाबाद में चाय बेचते थे और वही से फेमस हुए तो हम ये समझ लिए कि वो पाकिस्तानी है लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के मुताबिक अरशद खान अफगानिस्तान के रहने वाले हैं। पाकिस्तानी अधिकारियों के मुताबिक अरशद अफगानी मूल के नागरिक है।

पाकिस्तान में अफगानिस्तान के उच्चायुक्त डॉ उमर जाखीलवाल ने भी इस बात की पुष्टि की है और एक ट्विट कर इस कंफर्म किया है। अरशद खान की ये चोरी पकड़ी नहीं जाए इसके लिए उसने पहले से कंप्यूटराइज्ड राष्ट्रीय पहचान पत्र ले लिया था लेकिन जब वो पासपोर्ट बनवाने गया तो उसकी चोरी पकड़ी गई। खैर आपको बता तक की इस बात की अरशद खान ने इस तरह का झूठ आखिर किस वजह से बोला इसका खुलासा अभी तक नहीं हो पाया है। फिलहाल तो अरशद खान की पापुलरिटी खतरे मे दिख रही है क्योंकि पाकिस्तानी अधिकारी उसके खिलाफ कार्रवाई का मन बना रहे हैं।

Back to top button
E-Paper