प्रेमी के घर की चौखट पर 72 घंटे से प्रेमिका का अनशन, बच्चा भी साथ, बोली-मर जाऊंगी पर नहीं जाऊंगी

उत्‍तर प्रदेश के महराजगंज से एक अजब गजब मामला सामने आया है । यहां एक महिला अपने डेढ़ साल के बच्‍चे के साथ प्रेमी के घर के बाहर अनशन पर बैठी हुई है, वो अब निकाह के लिए अपने प्रेमी का इंतजार कर रही है । बताया जा रहा है कि इस महिला को 72 घंटे से ज्‍यादा का समय हो गया है । पुलिस वाले भी इस महिला को समझाकर हार गए हैं, क्‍या है पूरा मामला आगे पढ़ें ।

प्रेमिका चौखट पर प्रेमी फरार
दरअसल महाराजगंज जिले के स्थानीय बाजार स्थित एक घर के बाहर एक महिला अपने प्रेमी के घर की चौखट पर 72 घंटे से अनशन पर बैठी है, उसके साथ उसका बच्‍चा भी है । बताया जा रहा है कि मौके से प्रेमी और उसके परिजन घर के दरवाजे पर ताला लगाकर फरार हो गए हैं । शुक्रवार को सीओ बदलापुर के समझाने पर भी ये महिला अपनी मांग को लेकर बैठी रही।

शादीशुदा है महिला 4 बच्‍चों की है मां
दरअसल इस प्रेमी का नाम है कमरूल वारिश, जिसकी उम्र अभी 22 वर्ष है । बताया जा रहा है, कमरूल का मोहल्ले की ही 4 बच्चों की मां 37 वर्षीय महिला के साथ पिछले 3 सालों से इश्क चल रहा था । प्रेमी अपनी प्रेमिका के घर जाकर उसकी बेटियों को पढ़ाया करता था, प्रेमिका का पति रोजी-रोटी के सिलसिले में मुंबई रहता था । लेकिन लॉकडाउन में घर वापस आकर वो मजदूरी का काम कर रहा है।

छिप-छिप कर मिलते रहे
एक महीने पहले ये महिला इलाज के लिए कोलकाता अपने मायके चली गयी थी, लेकिन युवक से उसकी बातचीत होती रही । प्रेमी के बुलाने पर बीते 28 अप्रैल को वाराणसी आ गई, वो उसकी बड़ी बहन के यहां 3 दिन तक दोनों रुके रहे। प्रेमिका के अनुसार वहां ये दोनों छिप-छिपकर मिलते थे । इसके बाद दोनों  महराजगंज आकर अपने पिता के पुराने मकान में रुके रहे । महिला ने कहा कि प्रेमी के पिता ने उसे कहा कि तुम अपने पति से तलाक लेकर आओ मैं अपने बेटे से निकाह करा दूंगा । लेकिन अब उन लोगों ने मेरे प्रेमी को डरा धमका कर भगा दिया है। युवक उससे कहकर गया है कि जब तक मैं वापस ना आऊं । महिला के मुताबिक उसका डेढ़ याल का बेटा भी उसी प्रेमी से है । मामले में पुलिस ने महिला को समझाया है, लेकिन वो घर छोड़ने को तैयार, ऐसे में पुलिस ने बच्‍चे के लिए दूध पानी की व्‍यवस्‍था पड़ासियों से कहकर कर दी है । मामले में पुलिस जांच कर रही है, महिला के पति ने भी उसके गायब होने की सूचना पुलिस को दी है ।

Back to top button
E-Paper