बिजली संयंत्रों में कोयले की आपूर्ति के लिए रेलवे ने तीन महीने में 1900 ट्रेनें की रद्द

नई दिल्ली (ईएमएस)। सूचना का अधिकार के तहत मिली जानकारी के मुताबिक भारतीय रेलवे ने बिजली संयंत्रों तक कोयले की आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए पिछले तीन महीनों में 1900 ट्रेनों को रद्द किया है। आरटीआई में ये भी पता चला है कि भारतीय रेलवे ने अलग-अलग कारणों से 2022 में करीब 9000 रेलवे सेवाएं रद्द की है।


आरटीआई एक्टिविस्ट चंद्रशेखर गौर के द्वारा दायर आरटीआई के मुताबिक भारतीय रेलवे ने मरम्मत या निर्माण कार्य के लिए 6,995 ट्रेन सेवाओं को रोका। इसके अलावा इस साल मार्च से मई के बीच कोयला आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए 1,934 ट्रेन रद्द की गई। गौरतलब है कि रेलवे ने देश भर में बिजली संकट का कारण बनती जा रही कोयले की समस्या को देखते हुए मालगाड़ियों की आवाजाही को प्राथमिकता देने के लिए यात्री ट्रेनों की आवाजाही रद्द की थी। रेलवे को अगले कुछ सालों में 1,15,000 करोड़ रुपये से अधिक के मूल्य राशि के 58 अति महत्वपूर्ण और 68 महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट से जुड़े सामानों को पहुंचना है। 

यही वजह है कि पूरे रेलवे नेटवर्क में रखरखाव और मरम्मत कार्य तेजी से किया जा रहा है। आरटीआई में आगे कहा गया है कि भारतीय रेलवे ने निर्माण और रखरखाव कार्य के कारण जनवरी से मई के बीच 3,395 मेल और 3600 एक्सप्रेस ट्रेन सेवाओं को रद्द कर दिया। जनवरी और फरवरी महीने के बीच कोई ट्रेन रद्द नहीं की गई थी, लेकिन पिछले तीन महीनों में कोयला की आवाजाही को सुविधाजनक बनाने के लिए 880 मेल, एक्सप्रेस ट्रेनों और 1,054 यात्री ट्रेनों को रद्द किया गया।

Back to top button