बुजुर्ग मां-बाप को पीटकर घर से निकाला,पुलिस कमिश्नर फोर्स लेकर घर पहुंचे बेटे व बहू को लगाई फटकार, भेजा जेल


कानपुर। ) शहर से रिश्तों को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। यहां बेटे-बहू ने अपने 70 साल के बुजुर्ग मां.बाप को पीटकर घर से बाहर निकाल दिया। बुजुर्ग दंपति ने रोते-बिलखते चौकी इंचार्ज से लेकर डीसीपी तक से मदद की गुहार लगाई लेकिन किसी ने नहीं सुनी।

आखिरी उम्मीद लेकर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण के पास पहुंचे तो उनका दिल पसीज गया। बेटे-बहू की करतूत सुनकर कमिश्नर भड़क उठे और फोर्स के साथ खुद बुजुर्ग दंपति को लेकर उनके घर पहुंच गए। कमिश्नर के आदेश पर पुलिस ने तुरंत बुजुर्ग के बेटे.बहू को गिरफ्तार कर लिया और जेल भेज दिया। बुजुर्ग दंपति को सम्मान के साथ उनका घर वापस दिला दिया।


चौकी,थाना और डीसीपी तक लगाई गुहार
मामला चकेरी क्षेत्र के अंतर्गत जेके कॉलोनी जाजमऊ का है। यहां रहने वाले 70 वर्षीय बुजुर्ग अनिल कुमार शर्मा और उनकी पत्नी कृष्णा देवी को बेटे व बहू ने पीटकर घर से बेदखल कर दिया। बुजुर्ग दंपति चौकी,थाना और डीसीपी पूर्वी के पास गए। लेकिन किसी ने सुना तक नहीं। इसके बाद सोमवार को दोनों पुलिस कमिश्नर असीम अरुण के पास अपनी शिकायत लेकर पहुंचे। बुजुर्ग जो चलने को भी मोहताज थे,उनके साथ ये सुलूक देखकर उनका दिल पसीज उठा। वह खुद बुजुर्ग दंपति को अपनी गाड़ी से साथ लेकर फोर्स के साथ उनके घर पहुंचे। पुलिस ने घर में मौजूद बेटे अभिषेक और बहू मनीषा को हिरासत में लिया। इसके बाद बुजुर्ग की तहरीर पर बेटे और बहू के खिलाफ चकेरी थाने में एफआईआर दर्ज करके जेल भेज दिया गया। हालांकि, एफआईआर मारपीट की धाराओं में हुई थी लेकिन उनकी हरकतों को देखते हुए जमानत नहीं दी गई और जेल भेज दिया गया।


बुजुर्ग दंपति के कमरे में बेटे-बहू ने लगा रखा था ताला
कमिश्नर जब बुजुर्ग दंपति को लेकर उनके घर पहुंचे तो उनकी ओर से बताई गई प्रताड़ना की हर एक दास्ता सही निकली। बुजुर्ग दंपति के कमरे में बेटे बहू ने ताला लगा रखा था। कमिश्नर से ताला खुलवाया तब जाकर बुजुर्ग दंपति ने राहत की सांस ली। इतनी फोर्स देखकर बेटे-बहू दंग रह गए और उनकी कलई खुल गई।


सभी थानेदारों को कमिश्नर ने दी हिदायत
चौकी और थाने में सुनवाई नहीं होने के चलते बुजुर्ग दंपति बेटे और बहू की काफी समय से प्रताड़ना झेल रहे थे। कमिश्नर तक मामला पहुंचा तब जाकर कार्रवाई हो सकी। इसे देखते हुए कमिश्नर ने सभी थानेदारों को हिदायत दी है कि सीनियर सिटीजन की सभी समस्याओं को थानेदार प्राथमिकता पर समाधान करें। अगर बुजुर्ग फरियादी थाने के चक्कर काटते या सुनवाई नहीं होने की शिकायत मिली तो थानेदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Back to top button
E-Paper