बेटे का नाम तैमूर रखने पर आपस में खूब लड़े थे सैफ-करीना, ऐसे हुआ ये खुलासा

बॉलीवुड एक्ट्रैस करीना कपूर ने हाल ही में बहन करिश्मा के साथ इंडिया टुडे कॉन्क्लेव के अंतिम दिन ‘द कपूर क्लैन: फिल्म, फैमिली, फेमिनिज्म’ सेशन में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने बताय़ा कि मैं माधुरी और श्रीदेवी के गानों की दीवानी थी। मैं बस उनकी तरह परफॉर्म करना चाहती थीं।

श्रीदेवी के जाने से लगा धक्का

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में करीना और करिश्मा कपूर ने बताया कि श्रीदेवी के चले जाने से उन्हें और करिश्मा को बहुत धक्का पहुंचा है। आगे करीना ने कहा कि वो खुद श्रीदेवी की बहुत बड़ी प्रशंसक हैं। उन्हें श्रीदेवी की फिल्म खुद गवाह इतनी पसंद है कि उस समय वह फिल्म उन्होंने थियेटर में जाकर 8 बार देखी थी।

आलिया सबसे ज्यादा पसंद

जब कॉन्क्लेव में करीना से पूछा गया कि इस वक्त बॉलीवुड की किस हीरोइन का काम उन्हें सबसे ज्यादा पसंद है। करीना ने बताया कि आलिया भट्ट का काम उन्हें बहुत पसंद है। उन्होंने ‘उड़ता पंजाब’ में जिस तरह की नेचुरल एक्टिंग की वह काबिले-तारीफ है। इस दौरान करीना-करिश्मा से पूछा गया कि कंगना रणावत बॉलीवुड में नेपोटिज्म की बात कई बार उठा चुकी हैं, आप क्या कहना चाहेंगी? जवाब में करिश्मा ने कहा कि स्टारडम पूरी तरह टैलेंट से आता है। हम किसी के भी बच्चे या पोता-पोती हो सकते हैं, लेकिन एक बार जब आप सिल्वर स्क्रीन पर आते हैं तो आप पर अपने परिवार के मान सम्मान की काफी जिम्मेदारी होती है।

करीना ने इस सवाल के जवाब में कहा, यदि नेपोटिज्म होता तो कोई भी स्टार बन सकता था। स्टार का बेटा स्टार होता। कई स्टार किड्स हैं जो सफल नहीं हो पाए। रणवीर सिंह का उदाहरण देते हुए करिश्मा कपूर ने कहा कि रणवीर सिंह के पिता या कोई और फिल्मों में नहीं है, लेकिन वे सफल हुए.। वे बेहद एनर्जेटिक और कमाल के एक्टर हैं।

तैमूर के नाम का किया खुलासा

करीना कपूर से उनके बेटे तैमूर को लेकर पूछा गया कि उनके नाम पर इतने विवाद हुए थे फिर भी उनका नाम तैमूर क्यों रखा तो इस पर करीना जवाब देते हुए कहती है कि, जब तैमूर पैदा हुआ उस वक्त सोशल मीडिया पर उसके नाम को लेकर काफी विवाद हो रहा था। ट्विटर पर उसके नाम को आततायी बताया जा रहा था। मैं तैमूर के जन्म के समय हॉस्टिपल में थी।

सैफ नहीं चाहते थे तैमूर नाम रखना

जिस रात मैं हॉस्पिटल जा रही थी, सैफ ने मुझसे कहा, तैमूर के नाम पर काफी विवाद हो रहा है, हमें ट्रोल किया जा रहा है। सैफ नाम बदलकर ‘फैज’ करना चाहते थे। सैफ ने मुझसे कहा भी कि ये (फैज) ज्यादा पोएटिक और रोमांटिक है। लेकिन मैंने मना कर दिया था।मैंने तय कर लिया था कि यदि बच्चा हुआ, मैं चाहती हूं मेरा बेटा फाइटर बने। तैमूर का मतलब ‘आयरन’ है और मैं एक आयरन मैन को जन्म दूंगी। मुझे तैमूर के नाम पर गर्व है। और फिर यही नाम उन्होंने रखा।

Back to top button
E-Paper