महाराष्ट्र : नालासोपारा में ऑक्सीजन खत्म होने से 7 मरीजों की मौत, रमजान को लेकर जारी हुए सख्त नियम

संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों के बीच मुंबई से सटे नालासोपारा के विनायक हॉस्पिटल में देर रात सिर्फ 3 घंटे में ICU में एडमिट 7 मरीजों की मौत हुई है। परिवार का आरोप है कि हॉस्पिटल में ऑक्सीजन का स्टॉक खत्म हो गया था और इसी वजह से मरीजों की मौत हुई। वहीं हॉस्पिटल की सफाई है कि मृत हुए सभी मरीज अन्य गंभीर बिमारी से ग्रसित थे और जब उन्हें एडमिट करवाया गया था उनमें 30-40 प्रतिशत ही ऑक्सीजन लेवल था।

महाराष्ट्र में सोमवार को 51,751 नए मरीज आए तो 52,312 ठीक भी हुए। 9 मार्च के बाद पहली बार ऐसा हुआ कि जब नए मरीजों के मुकाबले ठीक होने वालों का आंकड़ा ज्यादा रहा हो। ये थोड़ी राहत की बात तो है, लेकिन हालात कंट्रोल में नहीं हैं। मौजूदा स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए टोटल लॉकडाउन के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

बुधवार को उद्धव कैबिनेट की बैठक होनी है। माना जा रहा है कि इस बैठक के ठीक बाद CM टोटल लॉकडाउन का ऐलान कर सकते हैं और यह लॉकडाउन 15 से 30 अप्रैल तक का हो सकता है। इससे पहले सरकार कोरोना के असर से प्रभावित किसानों, उद्योगों और व्यापारी वर्ग के लिए आज शाम तक राहत पैकेज का ऐलान कर सकती है।

महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना के 51,751 नए मामले सामने आए और 258 लोगों की मौत हो गई। इससे एक दिन पहले राज्य में संक्रमण के 63,294 मामले सामने आए थे। राजधानी मुंबई में सोमवार को 6,893 नए मामले सामने आए और 43 मरीजों की मौत हो गई। राज्य में अब संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 34 लाख 58 हजार 996 हो गए हैं और मृतकों की संख्या 58,245 पहुंच गई है।

हालांकि, वीकेंड लॉकडाउन के ठीक एक दिन बाद राज्य में कोरोना के मामलों में सिर्फ एक दिन में करीब 18.3% कमी देखने को मिली है। महाराष्ट्र में अब 5 लाख 64 हजार 746 एक्टिव पेशेंट हैं। संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने गुड़ी पड़वा और रमजान को लेकर सख्त गाइडलाइंस जारी की हैं।

गुड़ी पड़वा को लेकर नई गाइडलाइन
महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को मनाए जाने वाले गुड़ी पड़वा को लेकर ये गाइडलाइंस जारी की है-

  • गुड़ी पड़वा का त्यौहार सुबह 7 बजे से रात 8 बजे के बीच साधारण तरीके से मनाएं।
  • सार्वजनिक रूप से किसी भी तरह की भीड़ इकट्ठा होने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
  • पांच से ज्यादा लोग एक जगह इकट्ठे नहीं हो सकेंगे और न ही ट्रेडमार्क बाइक रैली की इजाजत रहेगी।

रमजान को लेकर भी नियम सख्त

  • घर पर ही नमाज अदा करें। मस्जिदों में भीड़ न बढ़ाएं।
  • धार्मिक स्थल जल्द ही बंद हो जाएंगे, इसलिए वाज यानी सामूहिक नमाज ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आयोजित करें।
  • खरीदारी के लिए बाजार में भीड़ न करें और न ऐसा होन दें।
  • अलविदा जुमे की नमाज भी घर पर ही अदा करें, सड़कों पर भीड़ लगाने से बचें।
  • इस रमजान किसी भी तरह के सामाजिक और धार्मिक कार्यक्रम की इजाजत नहीं दी जा सकती है।
  • रमजान पर गलियों या सड़कों पर कोई अस्थायी स्टॉल नहीं लगेगी। स्थानीय प्रशासन की जिम्मेदारी है कि सहरी और इफ्तारी के वक्त कहीं भी भीड़ जमा न होने दें।
  • धर्म गुरुओं से अपील की गई है कि वे लोगों में कोरोना वायरस की गाइडलाइंस को लेकर जागरूकता फैलाएं, ताकि संक्रमण की चेन तोड़ी जा सके।

10वीं और 12वीं की परीक्षा टली
महाराष्ट्र सरकार ने इस महीने राज्य बोर्ड द्वारा आयोजित होने वाली 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं टालने का फैसला लिया है। राज्य में 12वीं बोर्ड की परीक्षा 23 अप्रैल से और 10वीं की परीक्षा 30 अप्रैल से शुरू होने वाली थीं। स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने बताया कि महाराष्ट्र में कोविड-19 के मौजूदा हालात के मद्देनजर 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को टालने का फैसला किया है। मौजूदा हालात परीक्षा आयोजित करने के अनुकूल नहीं हैं।

महाराष्ट्र ने रेमडेसिविर की कमी पर केंद्र को घेरा मंत्री असलम शेख ने कहा कि महाराष्ट्र में जहां मामले इतने बढ़ रहे हैं वहीं रेमडेसिविर नहीं मिल रहा जबकि गुजरात में बीजेपी ऑफिस में रेमडेसिविर बांटे जा रहे हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में मुंबई 4 जंबो फैसिलिटी शुरू की जाएंगी। इनमें करीब 5,000 से ज्यादा बेड, ICU और वेंटिलेटर होंगे।

महाराष्ट्र के तीन बड़े शहरों में कोरोना का हाल

  • मुंबई: सोमवार को 6,905 नए केस आए। राहत की बात ये रही कि मुंबई में भी ठीक होने वाले लोगों की संख्या नए पॉजिटिव केसों से ज्यादा रही। सोमवार को 9,037 लोग ठीक हुए। लेकिन दिन भर में 43 लोगों की मौत हुई। मुंबई में ठीक होने वालों की दर (रिकवरी रेट) 80% है। मुंबई में कोरोना के दोगुने होने की अवधि 36 दिनों की है। 5 अप्रैल से 11 अप्रैल तक मुंबई में कोविड बढ़ोतरी दर 1.89% रही।
  • पुणे: सोमवार को 4,849 नए केस सामने आए। यह संख्या रविवार के मुकाबले काफी कम है। रविवार को पुणे में 12,377 केस आए थे और 87 लोगों की मौत हो गई थी। सोमवार को मृतकों की संख्या भी रविवार के मुकाबले थोड़ी कम हुई। सोमवार को पुणे में 65 लोगों की मौत हुई। पुणे में फिलहाल 53,376 एक्टिव मरीज हैं, इनमें से 1,050 लोगों की स्थिति गंभीर है।
  • नागपुर: मृतकों का आंकड़ा लगातार चिंता बढ़ा रहा है। सोमवार को भी नागपुर में कोरोना से 69 लोगों की मौत हो गई। दिन भर में 5,661 नए संक्रमित सामने आए। वहीं 3,247 लोग ठीक हुए। नागपुर में कुल संक्रमितों की संख्या 2 लाख 84 हजार 217 तक पहुंच गई है। इनमें से 2 लाख 20 हजार 560 ठीक हो चुके हैं। अब तक 5,838 लोगों की मौत हुई है।
Back to top button
E-Paper